नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने 2018 के राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) के परिणामों पर आज रोक लगाने से इंकार कर दिया. एक याचिका में प्रश्नपत्र लीक होने के आरोप लगाकर परिणाम को स्थगित करने की मांग की गई थी. देश भर के मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में नामांकन के लिए छह मई को नीट प्रवेश परीक्षा का आयोजन हुआ था जिसके परिणाम आज घोषित हुए. न्यायमूर्ति प्रतिभा एम . सिंह ने याचिका पर सुनवाई करते हुए परिणाम को रद्द करने की मांग खारिज कर दी. Also Read - CBSE 2021 Class 10, 12th Exam की तारीख से पहले आई Good News, जारी हुआ ये पेपर

Also Read - Full Details about CBSE exams 2021: 12th की परीक्षा में पूछे जाएंगे इस तरह के प्रश्न, बोर्ड ने दिया बड़ा आपडेट; यहां चेक करें

गुड़गांव केंद्र पर परीक्षा देने वाले एक अभ्यर्थी ने याचिका दायर की थी. वकील ने कहा कि एक शहर में प्रश्न पत्रों की कमी थी जहां प्रश्न पत्र लीक हुए थे. Also Read - CBSE class 12 exam 2021: सिलेबस घटाने के साथ पेपर के पैटर्न में बड़ा बदलाव, अब पूछे जाएंगे ऐसे सवाल

बहरहाल परीक्षा का आयोजन करने वाले सीबीएसई के वकील ने कहा कि प्रश्न पत्रों के वितरण में कुछ भ्रम हुआ था लेकिन बाद में इसका समाधान कर लिया गया और इसकी कोई कमी नहीं हुई. अदालत ने वकील से छुट्टियों के समय याचिका दायर करने पर सवाल किए जबकि परीक्षा छह मई को हो चुकी थी.

NEET Result 2018: ऑल इंडिया मेरिट लिस्ट जारी, Top 20 में पांच दिल्ली के शामिल

बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने आज दोपहर 12.30 बजे NEET 2018 का रिजल्ट अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी कर दिया है. MCI 12 जून से काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू करने वाला है. 13 लाख से ज्यादा छात्रों ने नीट 2018 की परीक्षा दी थी, जिसमें 7 लाख छात्रों ने क्वालिफाई किया है. इसमें 6.3 लाख छात्र जनरल कैटेगरी के हैं. 720 में 691 अंक लाकर बिहार की कल्पना कुमारी ने टॉप किया है. इस साल NEET परीक्षा की टॉप-20 सूची में 5 छात्र दिल्ली के शामिल हैं.