नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में बीते कल लगभग 7000 कोरोना संक्रमण के मामले एक दिन में आए थे. वहीं 50 से अधिक लोगों की मौत दर्ज की गई थी. बीते कुछ दिनों से दिल्ली में कोरोना फिर से अपना सिर उठा रहा है. ऐसे में दिल्ली हाईकोर्ट ने आज दिल्ली सरकार को आड़े हाथों लिया है.Also Read - HD Devegowda Corona Positive: पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा हुए कोरोना संक्रमित, फिलहाल नहीं दिख रहे हैं लक्षण

गुरुवार के दिन दिल्ली हाईकोर्ट ने राजधानी में बढ़ते कोरोना के मामले पर दिल्ली सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हा महमारी दिल्ली सरकार पर पूरी तरह से हावी हो चुकी है. जल्द ही दिल्ली कोरोना कैपिटल बनने जा रही है. कोर्ट ने दिल्ली सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों पर कहा कि आपके प्रयास पूरी तरह विफल हो रहे हैं. Also Read - Assembly Polls 2022: कोरोना के मामलों के बीच क्या रैलियों, रोड शो पर लगी पाबंदियां बढ़ेंगी? चुनाव आयोग की अहम बैठक आज

बता दें कि इस मामले की सुनवाई जस्टिस हीमा कोहली और एस प्रसाद की बेंच ने की. वहीं नगर निगम सेवानिवृति कर्मचारी कल्याण समिति ने इस बाबत कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी. इसी मामले पर आज कोर्ट ने दिल्ली सरकार पर टिप्पणी की है. Also Read - Booster Dose: कोरोना के बूस्टर डोज को लेकर WHO की तरफ से आया यह बयान...

बेंच ने कहा कि दिल्ली में जिस तरीके से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उससे लगता है कि जल्द ही दिल्ली कोरोना राजधानी बन जाएगी. कोर्ट ने दिल्ली सरकार के प्रयासों पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने कई दावे किए थे कि देश में सबसे अधिक जांच दिल्ली में हो रहे हैं बावजूद इसके कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी दिख रही है.