नई दिल्ली: दिल्ली जल बोर्ड ने एक एडवाइजरी जारी कर यह ऐलान किया है कि अंडरग्राउंड जलाशय की सफाई और पंपिंग स्टेशन की वार्षिक साफ सफाई की वजह से सोमवार और मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी के कुछ इलाकों में पानी का प्रेशर कम होने की उम्मीद जताई गई है. नोटिस में जल बोर्ड ने बताया कि सोमवार को नेहरू प्लेस, सी -2 / डी ब्लॉक जनकपुरी क्षेत्र, नांगल गांव, द्वारका, 1393 क्लब हाउस Pkt.4 सेक्टर -12 द्वारका, 717 DUs Pkt.1 फेज 1 और 2 सेक्टर -13 द्वारका , 8 ब्लॉक त्रिलोकपुरी जैसे इलाकों में पानी थोड़े कम प्रेशर से आ सकते हैं. Also Read - Sarkari Naukri 2020: BIS Recruitment 2020: BIS में ग्रुप ए, ग्रुप बी और ग्रुप सी के पदों पर निकली वैकेंसी, आवेदन प्रक्रिया शुरू, जल्द करें अप्लाई

राज्यों को केंद्र से असहमत होने का है अधिकार, CAA के लिए बाध्य नहीं कर सकती सरकार : सुरजेवाला Also Read - BIS Recruitment 2020: भारतीय मानक ब्यूरो में साइंटिस्ट के पदों पर निकली वैकेंसी, कल से कर सकते हैं आवेदन

वहीं मंगलवार कोसी -6 वसंत कुंज, नेहरू प्लेस, द्वारका, मदांगरही, गली नं. 1 से 28 तुगलकाबाद एक्सटेन., C-25 / D ब्लॉक जनकपुरी, C-3/120 SFS जनकपुरी, नांगल गाँव, 804 SFS Pkt.B सेक्टर -4 द्वारका, शालीमार पार्क जैसे जगहों पर पानी की आपूर्ति बाधित हो सकती है. Also Read - AAP row: Kapil Mishra's serious allegations on Arvind Kejriwal, top things to know | कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर आरोप लगाकर आम आदमी पार्टी की चूलें हिला दीं, 10 बड़ी बातें

महाराष्ट्र सरकार का दावा, कहा-मार्च के अंत तक इतने हजार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र होंगे स्थापित

दिल्ली जल बोर्ड ने लोगों को यह भी सलाह दिया कि वे पहले से ही पानी स्टोर करके रख लें. इससे पहले पिछले साल केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के एक अध्ययन में खुलासा हुआ था कि दिल्ली में नल का पानी पीने के लिए सुरक्षित नहीं है. दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई जैसे मेट्रो शहर भारतीय मानक ब्यूरो (Bureau of Indian Standards) द्वारा परीक्षण किए गए 11 गुणवत्ता मानकों में से लगभग 10 में विफल हो गए थे, जो उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के तत्वावधान में था. उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा था कि बीआईएस ने पाया कि दिल्ली से निकाले गए सभी 11 नमूनों में गुणवत्ता के मानक का पालन नहीं किया गया था.