Delhi-NCR Unlock 1.0 : कोरोना वायरस के चलते देश में जारी हुए लॉकडाउन के बाद से करीब ढाई महीने (Coronavirus Lockdown) से बाजारों से लेकर धार्मिक स्थलों को खोले जाने पर पाबंदी लगाई गई थी. ऐसे में तमाम धार्मिक स्थलों पर ताले लगे हुए थे. मंदिर से लेकर मस्जिद तक में भीड़ के जमा होने पर सख्त मनाही थी. ऐसे में केंद्र सरकार ने 1 जून से अनलॉक 1 की घोषणा की, जिसके अंतर्गत बंद में धीरे-धीरे छूट दी जाने लगी. इस बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने भी बीते 7 जून को कई घोषणाएं कीं, जिसमें उन्होंने मंदिर-मस्जिदों को खोले जाने की भी बात कही. CM केजरीवाल की इस घोषणा के बाद करीब ढाई महीने बाद जामा मस्जिद भी इबादत (Jama Masjid Open) के लिए खोल दी गई.Also Read - कोविड-19 से उबर न्यूजीलैंड के बायो-बबल में लौटे फिन एलेन

New Rules in Jama Masjid Due To Coronavirus Also Read - Delhi: शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने PM मोदी को जामा मस्जिद में मरम्मत के लिए लिखा पत्र

लेकिन कोरोना के चलते सरकार ने जामा मस्जिद में कई तरह की पाबंदियां और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को पालन करने की बात भी कही है. कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए एहतियातन वजू खाना पर पाबंदी लगाई गई है और नमाजियों को आपस में गले लगने के लिए भी मना किया गया है. Also Read - Eid Ul Fitr: कोरोना महामारी के बीच ईद-उल-फितर की नमाज, कहीं नियम मानें तो कहीं उड़ाई धज्जियां

इसके साथ ही धार्मिक स्थल में एक साथ कई लोगों के इकट्ठा होने यानि भीड़ के जमा होने पर और पर्यटकों के आने-जाने पर भी सख्त पाबंदी है. यही नहीं मस्जिद पहुंचने वाले सभी लोगों को मास्क पहनने और अपने साथ मैट (Mats) लेकर आने के लिए भी कहा गया है. ऐसा कोरोना का एक-दूसरे में प्रसार रोकने के लिए किया गया है.

हालांकि, सरकार ने अपनी तरफ से धार्मिक स्थलों को खोले जाने का ऐलान कर दियाहै, लेकिन कोरोना के भय के चलते अभी भी लोग भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बच रहे हैं. यही कारण रहा कि, जामा मस्जिद में भी रौनक कम ही दिखाई दी. बता दें जामा मस्जिद को पर्यटकों के लिए बंद रखा गया है. मस्जिद अभी सिर्फ नमाजियों के लिए ही खोली गई है. यही नहीं मस्जिद में नमाज पढ़े जाने के बाद मस्जिद को सेनेटाइज किए जाने के निर्देश भी दिए जा चुके हैं.