नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय की न्यायाधीश न्यायमूर्ति आर भानुमति शुक्रवार को अदालत कक्ष में उस समय बेहोश हो गयीं जब वह निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चार दोषियों को अलग-अलग फांसी दिये जाने की केंद्र की याचिका पर आदेश सुना रही थीं. Also Read - Kisan Andolan: किसान नेता का बड़ा ऐलान, 'ट्रैक्टर रैली के बाद, 1 फरवरी को संसद की ओर पैदल मार्च करेंगे'

हालांकि न्यायमूर्ति भानुमति जल्द ही होश में आ गयीं और उन्हें वहां डायस पर बैठे अन्य न्यायाधीशों तथा उच्चतम न्यायालय के कर्मियों ने चैंबर में पहुंचाया. उन्हें इलाज के लिए व्हील चेयर पर ले जा गया. Also Read - Kisan Andolan: मुंबई रैली में गरजे शरद पवार, पीएम मोदी से पूछा, क्या ये किसान पाकिस्तान के हैं?

बाद में न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना ने कहा कि मामले में आदेश अब चैंबर में सुनाया जाएगा. मामले की सुनवाई कर रही तीन सदस्यीय पीठ में न्यायमूर्ति अशोक भूषण भी शामिल हैं. Also Read - Delhi Metro Update: 26 जनवरी के दिन इतने समय के लिए बंद रहेंगे मेट्रो स्टेशन, जानें टाइमिंग

(इनपुट भाषा)