नई दिल्ली: अब तक था कि अगर लक्षण नहीं हैं, तो ऐसे लोगों की कोरोना वायरस की जांच नहीं की जा रही थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अगर किसी में लक्षण नहीं हैं फिर भी वह जांच करा सकता है. दिल्ली एक एलजी अनिल बैजल ने ये आदेश दिए हैं. बता दें कि दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या 27 हज़ार पार हो गई है. Also Read - कोविड-19 की दवा विकसित करने के लिए 'ड्रग डिस्कवरी हैकाथन' शुरू, देश में पहली बार हो रही ऐसी पहल

दिल्ली में अब कोरोना वायरस के लक्षण न होने के बाद भी अस्पतालों में जांच कराई जा सकती है. अब तक बिना लक्षण वाले लोगों की जाँच से इनकार किया जा रहा था. दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल ने आज ही ये आदेश दिया है. उप राज्यपाल ने दिल्ली सरकार के उस फैसले को भी पलटा है, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली में सिर्फ दिल्ली वालों का ही इलाज होगा. Also Read - राजस्थान में कोरोना: 421 मौतें, संक्रमितों की संख्या 18 हज़ार पार, जानें अपने इलाके का हाल

हालाँकि कोरोना टेस्ट कराने को लेकर शर्त भी है. बिना लक्षण वाले उन्हीं लोगों का इलाज किया जाएगा, जो कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज के आसपास रहे होंगे या संपर्क आए होंगे. बता दें कि मंगलवार को दिल्ली के उप राज्यपाल और दिल्ली सरकार के बीच मीटिंग भी है. जिसमें ये चर्चा की जानी है कि क्या दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो चुका है? इसकी चर्चा की जानी है. इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की तबियत भी बिगड़ गई है. मंगलवार को ही उनका कोरोना टेस्ट किया जाएगा.