नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो की मैजेंटा लाइन पर कालकाजी मंदिर से जनकपुरी पश्चिम खंड तक की सेवाएं मंगलवार से आम लोगों के लिए शुरू कर दी गई. इसी के साथ इस मेट्रो लाइन पर सफर करने वाले यात्रियों को शहर की रिंग रोड पर भारी ट्रैफिक का सामना करने से राहत मिल जाएगी. दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) के तीसरे चरण के इस हिस्से का उद्घाटन केंद्रीय आवासीय एंव शहरी मामलों के मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नेहरु इंक्लेव मेट्रो स्टेशन पर किया.Also Read - प्रदूषण से निपटने के दिल्ली मेट्रो का खास प्लान, अधिक एंटी-स्मॉग गन तैनात करेगी DMRC

Also Read - Delhi Metro Pink Line: बिना ड्राइवर के चलने वाली पिंक लाइन मेट्रो शुरू, दुनिया के गिने-चुने देशों में है ऐसा नेटवर्क

कुल 16 स्टेशन Also Read - Delhi Metro और बसों में 100% सीटों के साथ खड़े होकर यात्रा करने की इजाजत मिली

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कालकाजी मंदिर और जनकपुरी पश्चिम दोनों ही स्टेशनों पर सुबह छह बजे एक साथ सेवाएं शुरू की गईं. इस खंड के खुलने के साथ ही तीसरे चरण में निर्मित नेटवर्क का परिचालन दायरा बढ़कर 87 किलोमीटर हो गया. इस गलियारे पर 16 स्टेशन हैं जिनमें 14 भूमिगत हैं और दो ऊपर उठे हुए हैं.

दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन से यात्रियों का फायदा, किराए और समय में भारी बचत

भारी ट्रैफिक से छुटकारा

इस खंड के खुलते ही जनकपुरी पश्चिम से बोटेनिकल गार्डन को जोड़ने वाले पूरे मैजेंटा लाइन कॉरिडोर पर परिचालन शुरू हो जाएगा. नोएडा से गुड़गांव जाने वाले यात्रियों को दक्षिणी दिल्ली में रिंग रोड पर मिलने वाले भारी ट्रैफिक से छुटकारा मिलेगा और उनका कम से कम 30 मिनट समय भी बचेगा.

अप्रैल में शुरू हुई थी पिंक लाइन

इससे पहले 15 अप्रैल को दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन को शुरू किया गया था. 21.56 किलोमीटर लंबी ये लाइन नॉर्थ दिल्ली के मजलिस पार्क से साउथ दिल्ली के दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस तक जाती है. इस लाइन पर कुल 12 स्टेशन हैं. पिंक लाइन पर मेट्रो चलने से दिल्लीवालों को आवाजाही में भारी सहूलियत मिली है.