पिलखुवा: केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 1058 करोड़ रुपए की लागत से बने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण का यहां सोमवार को उद्घाटन किया. इस दौरान उनके साथ केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री वी.के. सिंह और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मौजूद रहे. गडकरी ने इस मौके पर एक्सप्रेसवे को विकास का प्रतीक बताया और कहा कि जनवरी, 2020 तक हर हाल में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम पूरा कर लेंगे. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह एक्सप्रेसवे देश का पहला ऐसा हाईवे है जो त्वरित गति से निर्मित किया गया है, इससे 40 मिनट में हापुड़ से दिल्ली पहुंचा जा सकेगा. नया अलाइनमेंट गुरुग्राम से शुरू होकर एक्सप्रेस-वे रतलाम से मुंबई जाएगा. इस सड़क का निर्माण करने में 16000 करोड़ रुपए की बचत की गई है, इसके माध्यम से 14 घंटे के अंतराल में ही मुंबई पहुंचा जा सकेगा. एलिवेटेड रोड से सिर्फ 15 मिनट में हापुड़ से डासना की दूरी तय हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि वह 55 से 60 हजार करोड़ की योजनाओं पर कार्य करने जा रहे है जिसमें ईस्टर्न वेस्टर्न पेरिफेरल-वे का निर्माण सम्मिलित है. ‘नमामि गंगा’ योजना के अंतर्गत भारत सरकार ने जो धनराशि व्यय की है उससे गंगा प्रदूषण मुक्त होगी और आमजन को निर्मल गंगा जल उपलब्ध हो सकेगा. गडकरी ने कहा कि हवा में डबल डेकर बस संचालित करने की योजना है, जो 50 करोड़ का प्रोजेक्ट कार्य है. मेट्रो रेल की तकनीक में इससे अधिक व्यय होता है. दिल्ली में लोग पार्किं ग नहीं बनाते हैं, जिससे उनके वाहनों के कारण सड़क पर अतिक्रमण की समस्या बढ़ जाती है.

गुजरात में बस पलटी: 21 लोगों की मौत, 50 घायल, मंदिर से दर्शन कर लौट रहे थे यात्री, पीएम मोदी ने जताया दुख

उन्होंने कहा, “सरकार व राज्य सरकार द्वारा किसानों की भूमि अधिग्रहण पर उचित मुआवजा उपलब्ध कराया जा रहा है. ऐसी मार्केट बनाई जाए, जिससे प्रदूषण कम होगा. आम नागरिकों को डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. प्रोजेक्ट 2 के लिए भूमि अधिग्रहण की समीक्षा के लिए मैं एनएचआई जाऊंगा और हापुड़ से कानपुर जाने के लिए एक्सप्रेसवे बनाए जाने का प्रस्ताव रखूंगा.” उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि लोक निर्माण विभाग की 50 करोड़ रुपये लागत की 3 योजनाओं का लोकार्पण तथा 40 करोड़ की 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है. इस हाईवे को बनाने में 35 माह का समय लगा है. यह सबसे कम समय में तैयार होने वाला एक्सप्रेसवे है.

इससे पहले, केंद्रीय मंत्री गडकरी ने यूपी गेट पर प्लास्टिक वेस्ट से बन रही सड़क का हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया. पूरे प्रोजेक्ट की डिटेल रिपोर्ट का निरीक्षण किया. साथ ही उन्होंने एनएचएआई के अधिकारियों से जानकारी ली. हापुड़ जिले के पिलखुवा में आयोजित उद्घाटन समारोह में 6 लेन का नेशनल हाईवे व दोनों साइड में दो-दो लेन की सर्विस रोड का मंत्री ने लोकार्पण किया. इस चरण में 22.27 किलोमीटर का नेशनल हाईवे 1058 करोड़ की लागत से बनाया गया है, जिसमें पिलखुवा के अंदर 4.68 किलोमीटर की 6 लेन एलिवेटेड रोड, गंग नहर पर बड़े पुल के साथ सात नए छोटे पुल, 11 वाहन अंडरपास, 2 पैदल यात्री अंडरपास, 2 फुटओवर ब्रिज, 6 बड़े और 105 छोटे जंक्शन बनाए गए हैं.