नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकारें कई कदम उठा रही हैं. पीएम नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद दिल्ली की लाइफ लाइन दिल्ली मेट्रो ने भी कुछ पाबंदी लागू कर दी है. सुबह से ही मेट्रो में कम भीड़ देखा जा रहा है. दिल्ली रेल मेट्रो कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) लोगों को मेट्रो में एक सीट छोड़कर बैठने को कह रही है. नियंत्रित संख्या में ही यात्रियों को अंदर जाने दिया जा रहा है. मेट्रो द्वारा पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिए बार-बार इसकी घोषणा भी की जा रही है. देशभर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. अब तक 195 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से चार लोगों की मौत हो गई है.Also Read - Employment in July: जुलाई में नौकरी और आर्थिक संभावनाएं कमजोर बनी रहीं

दिल्ली मेट्रो की तरफ से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि यात्री मेट्रो का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ जरूरी होने पर ही करें. इसके साथ ही मेट्रो में सफर करते वक्त भी सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखने को कहा गया है. मेट्रो में या स्टेशन पर यात्रा करते समय कृपया एक-दूसरे से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें. ध्यान रहे कि दिल्ली मेट्रो की ओर से जारी की गई 8 प्वाइंट एडवाइजरी में यह भी कहा गया है, “यात्री खड़े होकर यात्रा न करें. बैठते वक्त भी यात्री बीच में एक सीट छोड़कर बैठें.” इसके अलावा मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों की रैंडल थर्मल स्कैनिंग भी की जा रही है. Also Read - Delhi Unlock: दिल्ली में आज से मिली अनलॉक की बंपर छूट, 100% क्षमता के साथ चलेंगी मेट्रो और बसें, लोगों की लगी लंबी कतारें

दिल्ली मेट्रो ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि जिन स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ होगी यानी जहां यात्रियों के बीच 1 मीटर की अपेक्षित दूरी नहीं होगी वहां मेट्रो नहीं रुकेगी. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों या कोरोनावायरस के लक्षण वाले यात्रियों को किसी भी मोड से यात्रा ना करने की सलाह दी गई है. डीएमआरसी ने लोगों से अपील की है कि वैश्विक संकट से निपटने के लिए सभी को संकल्प लेना होगा और सहयोग करना होगा. Also Read - केंद्र सरकार ने राज्यों से कोविड-19 महामारी में माता-पिता को खोने वाले बच्चों का ब्यौरा मांगा