DMRC Fines Passengers: दिल्ली मेट्रों के चालू होने के बाद दो हफ्तों के भीतर ही कुल 2,214 यात्रियों का चालान दिल्ली मेट्रों द्वारा काटा जा चुका है. लंबे समय तक बंद रहने के बाद दिल्ली मेट्रों को जब खोला गया तब दिशानिर्देश भी जारी किए गए थे. साथ ही DMRC के अधिकारियों द्वारा बयान जारी करके भी लोगों को मास्क पहनने व दिशानिर्देश पालन करने को कहा गया था. लेकिन मात्र 2 हफ्तों के भीतर कुल 2,214 ऐसे लोगों को पकड़ा गया जो बिना मास्क यात्रा कर रहे थे. साथ ही मेट्रों प्रशासन द्वारा इन लोगों पर चालान किया गया.Also Read - Delhi Metro Latest News: दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों को बड़ी राहत, अब हर सीट पर...

इससे पहले कुछ दिन तक दिल्ली मेट्रों के अधिकारियों द्वारा लोगों को समझाया गया तथा मास्क न पहनने के नुकसान से रूबरू करवाया गया, लेकिन लोगों की आदतों में बदलाव न होता देख DMRC द्वारा फ्लाइंग स्क्वाड बनाया गया. इसमें शामिल लोगों को 9 रूट्स पर लगाया गया और इनका काम यह पता करना था कि कौन लोग मेट्रो परिसर में बिना मास्क के घूमते हैं और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करते हैं. Also Read - Delhi Unlock Update: दिल्ली में सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स खोलने की मिली इजाजत, पूरी क्षमता के साथ चलेंगी बसें और मेट्रो

इसके बाद फ्लाईंक स्क्वाड ने काम करना शुरू किया और देखते ही देखते हजारों लोगों पर, जिन्होंने मास्क नहीं पहना तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन किया उनपर दिल्ली मेट्रो संचालन और देखरेख अधिनियम के सेक्शन 59 के तहत चालान करना शुरू किया. इस सेक्शन के तहत नियमों के उल्लंघन करने वालों से 200 रुपये का हर्जाना लिया गया. Also Read - Delhi Metro के ये 7 स्‍टेशन कल जरूरत पड़ने पर किए जा सकते हैं बंद, रहेगी कड़ी चौकसी

अगर रूट्स पर काटे गए चालान और लोगों की संख्या की बात करें तो समयपुर बादली-हुडा सिटी सेंटर (पीली लाइन) पर कुल 724 लोगों का चालान काटा गया. रिठाल-शहीद स्थल नया बस अड्ड (रेड लाइन) पर 134 लोगों के चालान काटे गए. नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी/वैशाली-द्वारका सेक्टर 21 (ब्लू लाइन) पर 545 लोगों के चालान काटे गए.

वहीं बहादुरगढ़ मेट्रों (ग्रीन लाइन) पर 26 लोगों को हर्जाना देना पड़ा. कश्मीरी गेट- राजा नाहर सिंह (बल्लभगढ़) (वायलेट लाइन) पर 580 लोगों के चालान काटे गए. मजलिस पार्क से शिवविहार (पिंक लाइन) पर 79 लोगों के चालान हुए, जनकपुरी वेस्ट-बोटानिकल गार्डेन (मेजेंटा लाइन) पर 109 लोगों के चालान कटे और द्वारका-नजफगढ़ (ग्रे लाइन) पर 17 लोगों के चालान काटे गए. इस तरह कुल मिलाकर 2,214 उन यात्रियों का चालान किया गया जिन्होंने नियम का उल्लंघन किया.