नई दिल्ली: अपनी तीन मांगों को मनवाने के लिए दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन उपराज्यपाल (एलजी) ऑफिस में ही अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं. सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है. सीएम केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, मंत्री सत्येंद्र जैन और गोपाल राय सोमवार शाम से ही एलजी ऑफिस में धरने पर बैठे हैं. धरने पर बैठे इन नेताओं की तीन मांग हैं-Also Read - पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा 'काले अंग्रेज', केजरीवाल बोले, 'लेकिन नीयत साफ है'

ये हैं तीन मांग
1. दिल्ली के आईएएस अधिकारियों की हड़ताल को तुरंत खत्म किया जाए
2. राशन की डोर स्टेप डिलीवरी वाली फाइल को क्लियर किया जाए
3. मोहल्ला क्लीनिक, सरकारी स्कूलों में पुताई व अन्य रुके हुए काम हैं, उन्हें जल्दी शुरू करवाया जाए Also Read - DDE Corridor: दिल्ली से देहरादून सिर्फ 2.30 घंटे में, मेरठ से लेकर हरिद्वार तक चमकेगी बीच के शहरों की सूरत

केजरीवाल का वीडियो संदेश
इसी बीच धरने पर बैठे सीएम केजरीवाल ने एक वीडियो संदेश जारी करके फिर से अपनी तीन मांगों को दोहराया है और एलजी अनिल बैजल से मांग की है कि जल्द से जल्द इन तीनों मांगों को मानकर दिल्ली के लोगों को राहत दी जाए. Also Read - Delhi Air Quality: निर्माण गतिविधियों पर रोक के बावजूद दिल्ली की हवा अब भी 'बहुत खराब'

आपको बता दें कि दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के बाद से दिल्ली के सरकारी अधिकारी कथित रूप से हड़ताल पर हैं, हालांकि सरकारी अधिकारियों के एक संगठन ने दिल्ली में आईएएस अधिकारियों द्वारा किसी भी तरह की हड़ताल किए जाने से इनकार किया है.

क्या है पूरा विवाद
बीती 20 फरवरी को दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि सीएम केजरीवाल के साथ मीटिंग के दौरान आम आदमी पार्टी के दो विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी. इसके बाद से दिल्ली के आईएएस अधिकारी हड़ताल पर चले गए थे. हालांकि आम आदमी पार्टी ने किसी भी तरह की हाथापाई से इनकार किया था. अब सवाल ये उठ रहा है कि 20 फरवरी से लेकर अबतक इस केस की जांच कर रही दिल्ली पुलिस इस मामले में आरोप-पत्र भी दाखिल नहीं कर पाई है.