Delhi में कोरोना के 22 हजार से अधिक तो Mumbai में 19,474 केस हुए दर्ज, अस्पताल में भर्ती होने की दर मामूली

Delhi Mumbai Corona Update: देश की राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना की रफ्तार डरावनी हो चुकी है. दिल्ली में रविवार को कोरोना के 22,751 नए मामले सामने आए वहीं, मुंबई में 19,474 केस रिपोर्ट किये गए.

Published: January 9, 2022 8:14 PM IST

By Parinay Kumar

Mumbai Corona Update
Mumbai Corona Update

Delhi Mumbai Corona Update: देश की राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना की रफ्तार डरावनी हो चुकी है. दिल्ली में रविवार को कोरोना के 22,751 नए मामले सामने आए वहीं, इस दौरान 17 मरीजों की मौत हो गई. राजधानी में 1 मई के बाद एक दिन में ये सबसे ज्यादा नए मामले हैं, वहीं, 7 मई के बाद सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट हो गया है. पिछले 24 घंटों में 17 मरीजों की मौत हुई जो 16 जून के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें हैं. कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए सोमवार को होने वाली डीडीएमए की बैठक में कुछ पाबंदियां बढ़ाने का ऐलान भी किया जा सकता है. हालांकि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन से इनकार किया है. उधर, मुंबई में भी कोरोना हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहा है. लेकिन मुंबई में बीते 24 घंटे में शनिवार से कम केस सामने आए.

Also Read:

मुंबई ने रविवार को 19,474 मामले दर्ज किए, जो एक दिन पहले रिकॉर्ड किये गए 20,318 से थोड़ा कम है. शहर में इस दौरान 7 लोगों की कोरोना से जान चली गई. कुल 19,474 मामलों में से 82 प्रतिशत (15,969) बिना लक्षण वाले हैं. वहीं, 1,240 कोरोना रोगियों को आज अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनमें से 118 ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं. वित्तीय राजधानी में अब 111,437 एक्टिव कोविड केस हैं. आज की रिपोर्ट के अनुसार लगभग 8,063 लोग ठीक हो गए और उन्हें छुट्टी दे दी गई. रिकवरी दर वर्तमान में 85% है, जो कल के 86% से कम है. अच्छी बात यह है कि दिल्ली और मुंबई दोनों जगहों पर अस्पताल में भर्ती होने की दर बहुत कम है.

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली में अभी पूरी तरह से लॉकडाउन का कोई इरादा नहीं है. सोमवार को दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक है, जिसमें कोरोना के मौजूदा हालात और नए नियमों पर चर्चा की जाएगी. रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नए प्रतिबंध दिल्लीवासियों के रोजगार पर असर डालेंगे, इसलिए हम पूर्ण लॉकडाउन नहीं करने जा रहे हैं. लेकिन लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें ताकि कोरोना की मौजूदा स्थिति को नियंत्रित किया जा सके.

दिल्ली में 22,000 से ज्यादा केस आए हैं तो भी अस्पतालों में केवल 1500 बेड ही भरे हैं यानी इस बार मृत्यु की दर भी कम है और अस्पताल में बेड भी कम भरे हुए हैं. मुख्यमंत्री का कहना है कि ‘इसके बावजूद हमें कोरोना नियमों का पालन करना है. पैनिक करने की जरूरत नहीं है लेकिन नियमों का पालन आवश्यक है. मास्क पहनना सबसे जरूरी है.’

कई लोग प्रश्न पूछ रहे हैं कि क्या दिल्ली में लॉकडाउन लगेगा? मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘इसका जवाब यह है कि हम दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते. यदि आप मास्क पहन कर घर से बाहर निकले तो स्थिति कंट्रोल में रहेगी. सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते हमारी कोई मंशा नहीं है लॉकडाउन लगाने की. हम चाहते हैं कि जल्दी से जल्दी यह कोरोना की नई लहर खत्म हो. हमारी कोशिश है कि हम कम से कम रिस्ट्रिक्शन लगाएं ताकि लोगों का रोजगार चलता रहे.’

(इनपुट: ANI)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें दिल्ली की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 9, 2022 8:14 PM IST