नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर की हवा एक बार फिर खराब श्रेणी में दर्ज की गई. सोमवार का न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि शहर की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई. दिल्ली का समग्र गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 265 (खराब) श्रेणी में दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने बुधवार और गुरुवार को बारिश की संभावना जताई है.

एनसीआर के कुछ इलाकों में ओले पड़ सकते हैं. बुधवार शाम या रात में हल्की बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि न्यूनतम तापमान में वृद्धि हुई है. 15 फरवरी को भी हम बारिश की उम्मीद कर रहे हैं. मंगलवार को न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 23 डिग्री सेल्सिय रहने की उम्मीद है. वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूवार्नुमान प्रणाली (सफर) ने अनुमान जताया कि अगर गुरुवार को बारिश हो गई तो वायु गुणवत्ता में सुधार हो सकता है.

हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियों में भी सोमवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहे. इस सप्ताह और अधिक बारिश व बर्फबारी की संभावना है. मनाली स्थित स्नो एंड एवालैंचे स्टडी इस्टैब्लिशमेंट (सेस) ने स्थानीय लोगों और पर्यटकों को ऊंचाई वाली पहाड़ियों खासतौर पर मनाली क्षेत्र के पर्यटन गंतव्यों पर जाने के दौरान ऐहतियात बरतने की सलाह जारी की है क्योंकि यहां हिमस्खलन का खतरा अधिक है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया, “राज्य में 14 फरवरी को बड़े पैमाने पर बारिश और बर्फबारी की संभावना है.

उन्होंने कहा कि शिमला, नारकंडा, कुफरी, मनाली और डलहौजी में बर्फबारी हो सकती है. शिमला से 250 किलोमीटर दूर मनाली में न्यूनतम तापमान शून्य रहा. लाहौल-स्पीति जिले में स्थित केलांग राज्य में सबसे ठंडा रहा और यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 10.8 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. शिमला में न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री रहा. वहीं, किन्नौर के कल्पा में तापमान शून्य से 4.2 डिग्री नीचे, कुफरी में 2.1, डलहौजी में 2.9 और धरमशाला में 4.8 डिग्री रहा. सेस ने एक बुलेटिन में कहा कि कुल्लू जिले के मनाली स्थित सोलंग स्की स्लोप्स, धुंडी और ब्यास कुंड में हिमस्खलन का खतरा अधिक है. हालांकि यह चेतावनी सोमवार तक के लिए जारी की गई थी.