नई दिल्ली: अगस्त से दिल्ली-नोएडा-गाजियाबाद की सीमाएं खुल रही हैं. यह Unlock 3 के तहत किया जा रहा है. इसके तहत अंतरराज्यीय आवाजाही पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा. लेकिन इस बीच सीमाओं से आने जाने वाले लोगों के पास प्रशासन द्वारा जारी पास का होना आवश्यक है. बता दें कि दिल्ली और यूपी की सीमाएं कई मौकों पर बंद हो चुकी है. इससे पहले कोरोना वायरस के दिल्ली में बढ़ते प्रभाव को देखते हुए गाजियाबाद प्रशासन और नोएडा प्रशासन द्वारा दिल्ली-नोएडा (Delhi-Noida border) और दिल्ली-गाजियाबाद (Delhi Ghaziabad Border) सीमाओं को बंद कर दिया गया था. लोगों को इस दौरान काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ा, हालांकि वक्त वक्त पर नियमों में बदलाव किया गया लेकिन पास का होना उस वक्त भी जरूरी था और इस दौरान भी पास अनिवार्य किया गया है. Also Read - Lockdown/Unlock 3 In UP: कोरोना की रोकथाम के लिए राज्य में लॉकडाउन के नियमों में बदलाव, यहां जानें टीम 11 के फैसले की मुख्य बातें

शुक्रवार के दिन अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की कि 1 अगस्त से दिल्ली-यूपी की सीमाओं से प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे. उत्तर प्रदेश में साप्ताहिक लॉकडाउन के कारण सीमित वाहनों को आने-जाने की अनुमित मिलेगी. लेकिन सीमाओं को पूरी तरह खोला जाएगा. Unlock 3 की दिशानिर्देशों के अनुसार गृह मंत्रालय ने साफ कहा है कि कंटेंमेंट जोन्स में राज्य सरकार अतिरिक्त पाबंदियां लगा सकती है. लेकिन आवाजाही व सीमाओं में प्रवेश के लिए पास का होना अनिवार्य है. Also Read - Unlock 3: जिम और योगा सेंटर खोलने के लिए सरकार ने जारी की गाइडलाइन, इन नियमों का करना होगा पालन

हालांकि अभी तक यह तय नहीं हो पाया है कि e-Pass वाले वाहनों को आने जाने की अनुमति दी जाएगी या नहीं. वहीं तमिलनाडु सरकार का कहना है कि नए दिशानिर्देशों के अनुसार e-Pass को लेकर किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है. बता दें कि पास के लिए आवेदन करने के लिए आपको स्थानीय प्रशासन के पास आवेदन देना होगा. अगर आप चाहें तो राज्यों द्वारी जारी ई-पास पोर्टल पर भी आवेदन कर सकते हैं. Also Read - Delhi-Noida-Ghaziabad: खुल गईं सीमाएं लेकिन लागू की गई धारा 144, नए नियमों को जान लें, वरना होगी कानूनी कार्रवाई