नई दिल्‍ली: देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आज शुक्रवार की शाम को राजधानी दिल्‍ली कोरोना महामारी के बीच रोशनी से जगमग हो गई. स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर रोशनी में नहाया साउथ ब्लॉक, नॉर्थ ब्लॉक, संसद भवन और इंडिया गेट बहुत खूबसूरती से सजाया गया है. शाम को यहां की रोशनी की अनोखी छटा बिखेर रही है.Also Read - मुख्यमंत्री केजरीवाल ने की किसानों के नुकसान पर मुआवजे की घोषणा, जानें प्रति हेक्टेयर कितने रुपये मिलेंगे

बता दें कि अंग्रेजों की लंबी गुलामी के बाद भारत ने आखिरकार 15 अगस्त 1947 को आजाद हवा में सांस ली थी और आजाद सुबह का सूरज देखा. हालांकि इस सूरज में बंटवारे के जख्म की लाली भी थी. बंटवारे के बाद मिली आजादी खुशी के साथ ही दंगों और सांप्रदायिक हिंसा का दर्द भी देखा था. Also Read - NRI के अकाउंट से बड़ी रकम उड़ाने की कोशिश, HDFC के तीन बैंककर्मियों समेत 12 लोग अरेस्‍ट

Also Read - 60 हजार रुपये में बेची गई दिल्ली की नाबालिग लड़की, साले से शादी कराना चाहता था राजस्थान का गोपाल लेकिन....

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था, सामाजिक दूरी के नियमों का होगा पालन
इस साल लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा बंदोबस्त किए ग हैं और सामाजिक दूरी के नियमों का अनिवार्य तरीके से पालन किया जाएगा.

लाल किले के आसपास एनएसजी, स्नाइपर्स, स्वात कमांडो का सुरक्षा घेरा तैनात रहेगा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को देश को लाल किले की प्राचीर से संबोधित करेंगे. लाल किले के आसपास एनएसजी स्नाइपर्स, स्वात कमांडो और पतंग पकड़ने वाले कर्मियों समेत एक सुरक्षा घेरा तैनात रहेगा.

बहुस्तरीय सुरक्षा इंतजाम
दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त जनसंपर्क अधिकारी अनिल मित्तल ने कहा, ”दिल्ली पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस समारोहों के सिलसिले में बहुस्तरीय इंतजाम किए हैं. एनएसजी, एसपीजी और आईटीबीपी जैसी अन्य एजेंसियों के साथ आवश्यक समन्वय किया गया है.”
स्वात टीम और पराक्रम वाहनों को रणनीतिक रूप से तैनाती
दिल्‍ली पुलिस के पीआरओ ने कहा, ” सभी तरह के खतरों की सूचनाओं को ध्यान में रखते हुए सभी एजेंसियां एक दूसरे के साथ समन्वय में काम करेंगी. स्वात टीम और पराक्रम वाहनों को रणनीतिक रूप से लगाया जाएगा.”

लाल किले पर करीब 4,000 सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे
– प्रधानमंत्री के लाल किले जाने के मार्ग पर भारी सुरक्षा बल तैनात रहेंगे.
– सुरक्षा के लिए 300 से अधिक कैमरे लगाये गए हैं
– कैमरों की फुटेज पर 24 घंटे नजर रखी जा रही है.
– लाल किले पर करीब 4,000 सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे
– सुरक्षा सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए डटे रहेंगे.
– अनेक जगहों पर मेडिकल बूथ बनाए गए हैं.
– इन स्थानों पर एंबुलेंस भी तैनात रहेंगी.

समारोह में आने वाले सभी आगंतुकों के लिए सभी प्रवेश बिंदुओं पर थर्मल स्क्रीनिंग होगी
– लाल किले के अंदर और बाहर के इलाके को नियमित रूप से संक्रमण मुक्त करने का काम चल रहा है.
– सभी आगंतुकों से चेहरे को ढकने वाला मास्क पहनने का आग्रह किया गया है
– कार्यक्रम स्थल पर अनेक जगहों पर बांटने के लिए बड़ी संख्या में मास्क तैयार हैं.
– निश्चित स्थानों पर हैंड सैनिटाइजर भी उपलब्ध होगा.
– रेलवे स्टेशनों पर उनके आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.
– आगंतुकों की जांच में लगे सुरक्षाकर्मी पीपीई किट पहनकर रहेंगे.

लाल किले के पास की रेल पटरियों पर सुबह 6.45 से 8.45 बजे के बीच ट्रेनों की आवाजाही नहीं
पुलिस उपायुक्त (रेलवे) हरेंद्र कुमार सिंह ने कहा, ‘‘रेलवे स्टेशनों पर और पटरियों पर सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. लाल किले के पास से निकलने वाली रेल पटरियों पर सुबह 6.45 से 8.45 बजे के बीच ट्रेनों की आवाजाही नहीं होगी.

4,000 अतिथियों निमंत्रण पत्र जारी
अतिथियों की सूची की भी छंटनी की गई है और अधिकारियों, राजनयिकों, आम जनता और मीडिया, सभी को मिलाकर करीब 4,000 निमंत्रण पत्र जारी किए गए हैं.

दिल्ली पुलिस ने आगंतुकों को सलाह दी है कि अगर उन्हें पिछले दो सप्ताह में कोविड-19 का कोई लक्षण महसूस हुआ हो और उन्होंने जांच नहीं कराई हो तो वे समारोह में आने से बचें. समारोह में दो आगंतुकों की सीटों के बीच सामाजिक दूरी का ख्याल रखा जाएगा.