नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना नियमों के उल्लंघन को लेकर अबतक 51,600 से अधिक लोगों के चालान काटे जा चुके हैं. 13 जून से कोविड 19 सुरक्षा नियमों की धज्जियां उड़ाने और इस दौरान काटे गए कुल चालान की राशि लगभग 2.53 करोड़ रुपये है. क्योंकि अधिकारियों द्वारा साझा आंकड़ों के अनुसार, 13 जून को उल्लंघन शुरू हुआ था. इसमें से 2 सितंबर से 20 सितंबर तक, पिछले आठ दिनों में 1.19 करोड़ रुपये एकत्र किए गए थे. अधिकारियों ने कहा कि सरकार ने शहर के 11 जिलों में 180 से अधिक टीमों को कोविद के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ तैनात किया.Also Read - कोरोना के नियमों का उल्लंघन करना पड़ा मंहगा, दिल्ली में फिर से बंद हुए ये बाजार

राजस्व विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों से पता चलता है कि 13 जून से 17 सितंबर तक 11 जिलों में कुल 182 टीमों ने पांच श्रेणियों के तहत विभिन्न उल्लंघनों के लिए कुल 27,678 लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाया- इसमें फेसमास्क नहीं पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करना, सार्वजनिक रूप से थूकना, सार्वजनिक स्थानों पर बड़े समारोहों और शराब या तंबाकू का सेवन करना इत्यादि को लेकर चालान काटे गए थे. Also Read - दिल्ली पुलिस ने रॉबर्ट वाड्रा की गाड़ी का काटा चालान, अचानक लगा दिया था ब्रेक...

विभाग द्वारा साझा किए गए एक अलग डेटा सेट से पता चला है कि सरकार ने 20 सितंबर से चालान में तेजी ला दी है. क्योंकि 20 सितंबर और 27 सितंबर को सरकार ने 23,925 चालान जारी किए, जिनमें 22,570 मास्क नहीं पहनने और 1,050 सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने को लेकर काटे गए हैं. जुर्माने में कुल 1.19 करोड़ रु की वसूली की गई है. वहीं कुल वसूल की और राजस्व फायदे की बात करें तो अबतक राज्य को 2.53 करोड़ रुपये मिल चुके हैं. Also Read - HSRP Deadline: चार पहिया और दुपहिया वाहनों में HSRP नंबर प्लेट लगवाने की आज अंतिम तारीख, कल से भरना होगा मोटा चालान