नई दिल्ली: गार्गी कॉलेज फेस्ट में हुई छेड़छाड़ को लेकर दिल्ली पुलिस राजधानी और आसपास के इलाकों में छापामारी कर रही है. इसी सिलसिले में पुलिस ने अब तक 10 संदिग्धों को पूछताछ के लिए पकड़ा है. दक्षिणी जिला पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी बुधवार को दी. Also Read - सागर मर्डर केस: ओलंपिक खिलाड़ी सुशील कुमार के पीछे पड़ी पुलिस, FIR में नाम दर्ज

जानकारी के मुताबिक, ‘संदिग्धों की धरपकड़ के लिए दिल्ली पुलिस ने 11 टीमें बनाईं हैं. इन टीमों ने अभी तक दस लोगों को पकड़ा है. पकड़े गए इन लोगों से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक कई अन्य जगहों पर भी छापेमारी तेज कर दी गई है. संदिग्ध लोगों के पकड़े जाने के साथ-साथ पुलिस ने अभी तक कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर भी पूछताछ की है ताकि कहीं और कोई बेहतर जानकारी हाथ लग सके. हिरासत में लिए गए जिन लोगों से कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है, उन्हें पुलिस ने कुछ घंटों की पूछताछ के बाद छोड़ दिया. Also Read - Delhi: 2KM कोरोना मरीज को ले जाने के लिए मांगे 8500, पुलिस ने गिरफ्तार किया एंबुलेंस ड्राइवर

छेड़खानी की CBI जांच अदालत की निगरानी में कराने का अनुरोध
उच्चतम न्यायालय में बुधवार को एक याचिका दायर कर दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज के भीतर एक कार्यक्रम के दौरान पुरूषों के एक समूह द्वारा छात्राओं से की गई छेड़खानी के मामले की जांच शीर्ष अदालत की निगरानी में सीबीआई से कराने की मांग की गई है. एम. एल. शर्मा की ओर से दायर जनहित याचिका में अनुरोध किया गया है कि वह जांच एजेंसी को सभी वीडियो रिकॉडिंग और कॉलेज के आसपास के सभी सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जब्त करने का निर्देश दे. उसमें अनुरोध किया गया है कि शीर्ष अदालत ‘सुनियोजित आपराधिक साजिश’ के पीछे जिम्मेदार लोगों को गिरफ्तार करने का निर्देश दे. Also Read - Delhi: कोरोना की फर्जी रिपोर्ट बनाने पर डॉक्‍टर, साइंटिस्‍ट समेत 5 गिरफ्तार