नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के 10 छात्रों को नोटिस देकर उनसे 15 दिसंबर की हिंसा के मामले में पूछताछ के लिए पेश होने को कहा है. जिन छात्रों को पूछताछ के लिए बुलाया गया है, उनमें कुछ ऐसे भी छात्र हैं, जिन्हें घटना की रात हिरासत में लिया गया था. इसमें से कुछ की पहचान हाल में सामने आए सीसीटीवी के वीडियो क्लिप्स के जरिए की गई है. उनसे गुरुवार को पूछताछ में हाजिर रहने के लिए कहा गया. Also Read - मौलाना साद को गिरफ्तार नहीं करेगी दिल्ली पुलिस, सामने आए तो क्वारंटाइन में रखा जाएगा

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एक टीम बुधवार को विश्वविद्यालय परिसर पहुंची और छात्रों को नोटिस थमाए थे. Also Read - निजामुद्दीन मरकज को खाली कराने वाली टीम में शामिल रहे दिल्‍ली पुलिस के 7 जवान छुट्टी पर भेजे गए

पुलिस ने जिन छात्रों को पूछताछ के लिए बुलाया है, उनमें कुछ ऐसे भी छात्र हैं, जिन्हें घटना की रात हिरासत में लिया गया था. इसमें से कुछ की पहचान हाल में सामने आए सीसीटीवी के वीडियो क्लिप्स के जरिए की गई है और कुछ ऐसे छात्र हैं, जो घटना के दिन घायल हो गए थे.

पुलिस उपायुक्त (अपराध) राजेश देव के नेतृत्व में अपराध शाखा की टीम के कुछ सदस्यों ने मंगलवार को पहली बार परिसर का दौरा किया.

टीम के सदस्यों ने एक छात्र मोहम्मद मिनहाजुद्दीन से बात की. पुलिसिया कार्रवाई में मिनहाजुद्दीन की एक आंख की रोशनी चली गई. बहरहाल, विश्वविद्यालय प्रशासन ने पुलिस की कार्रवाई के कारण संपत्ति को हुए नुकसान का एक आकलन कर उसका ब्यौरा मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सौंप दिया है.