Israel embassy blast case दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने गुरुवार को लद्दाख के चार छात्रों को 29 जनवरी को यहां इजरायल दूतावास के पास हुए विस्फोट की जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया. सूत्रों के अनुसार, इनलोगों को लद्दाख के कारगिल इलाके से ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली लाया गया था और कई दौर की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि, सूत्र ने गिरफ्तार किए गए छात्रों के विवरण साझा करने से इनकार कर दिया.Also Read - नोएडा: चिकित्सक के बंगले में पूजा के लिए जलाए गए दीपक से लगी आग, 13 लोगों को बचाया गया

29 जनवरी को डॉ एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर इजराइल दूतावास के पास एक कम तीव्रता वाला बम विस्फोट हुआ था, जो विजय चौक से 2 किमी से भी कम दूरी पर था, जहां बीटिंग र्रिटीट समारोह चल रहा था, जिससे सुरक्षा प्रतिष्ठानों में हड़कंप मच गया. Also Read - मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का तगड़ा पलटवार, बोले- दिल्ली पुलिस का रवैया, देश में तानाशाही शासन की रिहर्सल है

बीटिंग र्रिटीट समारोह में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल हुए. स्पेशल सेल ने विस्फोट के बाद मामला दर्ज किया था. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस साल 2 फरवरी को इस मामले को अपने हाथ में लिया था. Also Read - दिल्ली की सड़कों पर अब बिना रजिस्ट्रेशन के गाड़ी चलाते दिखे तो खैर नहीं, लगेगा जुर्माना-मिलेगी कड़ी सजा

एनआईए ने 15 जून को बम विस्फोट में शामिल दो संदिग्धों के बारे में किसी भी जानकारी के लिए 10-10 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी. एजेंसी ने दूतावास के बाहर कैद सीसीटीवी वीडियो फुटेज में देखे गए कथित संदिग्धों की तस्वीरें और वीडियो भी जारी किए थे. इस विस्फोट से तीन खड़ी कारों के शीशे चकनाचूर हो गए थे.

(इनपुट आईएएनएस)