नई दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग (धनशोधन) मामले में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को सात दिन के लिए प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया है. आज उसे श्रीनगर से दिल्ली लाया गया जहां उसे अदालत में पेश किया गया. इसी दौरान शब्बीर ने कहा कि इस घटना से कश्मीर के हालात और बिगड़ेंगे. अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित आतंकी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराने के संबंध में उनके खिलाफ चल रहे एक दशक से ज्यादा पुराने धनशोधन के मामले में मंगलवार को गिरफ्तार किया था.

शब्बीर शाह को प्रवर्तन निदेशालय ने कई बार तलब किया था. लेकिन वह इस जांच एजेंसी के सामने कभी उपस्थित नहीं हुआ. इसके बाद दिल्ली की एक अदालत ने इस महीने की शुरुआत में उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था.

इस मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मोहम्मद वानी को गिरफ्तार किया था. उसे हवाला कारोबारी बताया गया था. उसपर शब्बीर को 2.25 करोड़ रुपए देने का आरोप था हालांकि शाह इस केस को राजनीति से प्रेरित बताता रहा है. वानी श्रीनगर का रहने वाला है. उसने शब्बीर और उसके साथियों को 2.25 करोड़ की रकम देने की बात बताई थी. उसके मुताबिक, पैसे पिछले एक साल में दिए गए थे.

शब्बीर शाह और वानी पर धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की रोकथाम के तहत मामला दर्ज किया है. वानी को 26 अगस्त 2005 में हवाला के माध्यम से 63 लाख रुपए लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.