नई दिल्ली: राजधानी के रोहिणी इलाके में स्‍थित सिटी सेंटर मॉल में चल रहे एक स्‍पा  में सेक्‍स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है. इस सेक्‍स रैकेट का खुलासा एक पत्रकार के स्टिंग ऑपरेशन के बाद हुआ है. पत्रकार एक गुप्त अभियान के तहत ग्राहक बनकर स्‍पा पर गया था और उसने स्‍वयं को ग्राहक बताया था . इसके बाद उसे अलग-अलग रेट पर 11 लड़कियां उपलब्‍ध कराने की पेशकश की गई थीं. पत्रकार ने लड़कियों और स्‍पा प्रबंधन से बातचीत की रिकॉर्डिंग कर ली.

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने सोमवार को दावा किया कि रोहिणी में एक मॉल के एक स्‍पा में सेक्स रैकेट चलने का भंडाफोड़ हुआ है. डीसीडब्ल्यू की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि आयोग ने इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं करने को लेकर पुलिस को नोटिस जारी किया. उसने यह पता लगाने के लिए एमसीडी को भी नोटिस जारी किया कि क्या उसे स्‍पा के बारे में पहले शिकायतें मिली थीं.

आयोग ने कहा कि 18 मई को उसके हेल्पलाइन नंबर 181 पर फोन आया था और फोनकर्ता ने बताया कि रोहिणी के सिटी सेंटर मॉल के एक स्‍पा में सेक्स रैकेट चल रहा है. डीसीडब्ल्यू ने कहा कि यह कॉल एक पत्रकार ने किया था, जो एक गुप्त अभियान के तहत बनकर स्पॉ पर गया था और उसने अपने को ग्राहक बताया था एवं उसे अलग-अलग दरों पर लड़कियां पेशकश की गई थीं. पत्रकार ने लड़कियों और स्पॉ प्रबंधन से बातचीत की रिकॉर्डिंग कर ली थी.

आयोग ने कहा कि उसके बाद उसकी टीम वहां पहुंची और उसने पुलिस बुलाई. डीसीडब्ल्यू की टीम को वहां 11 लड़कियां कुछ आपत्तिजनक चीजों के साथ मिलीं. आयोग न कहा कि इन लड़कियों को प्रशांत विहार थाने ले जाया गया, जहां पुलिस ने उनके बयान दर्ज किए और प्राथमिकी दर्ज की गई. लेकिन कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. आयोग ने कहा था कि वह इस मामले में सबूत के तौर पर बातचीत की रिकार्डिंग देगा, लेकिन अबतक उसे यह रिकॉर्डिंग नहीं मिली.