नई दिल्‍ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में सिख समुदाय ने पाकिस्‍तान में अल्‍पसंख्‍य सिखों और हिंदुओं की लड़कियों के जबरन धर्मांतरण और निकाह करवाने की घटनाओं को लेकर भारी आक्रोश जताया और विरोध प्रदर्शन किया है. बता दें कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में लड़की के परिजनों ने एक वीडियो में बताया गया है कि एक ग्रंथी की किशोर बेटी का अपहरण कर बंदूक के बल पर धर्मांतरण कराकर एक मुस्लिम व्यक्ति से उसका निकाह कराया गया. उनके मुताबिक लड़की की उम्र 18 वर्ष है.

सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के जन्मस्थल ननकाना साहिब में भी सिख समुदाय के लोगों ने इस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया है. वहीं, रविवार को भारत ने पाकिस्तान में दो सिख लड़कियों के जबरन धर्मांतरण के मद्देनजर रविवार को इन घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए पड़ोसी देश से ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए तत्काल उपचारात्मक कार्रवाई करने को कहा है.

पाकिस्तान में दो सिख लड़कियों के जबरन धर्मांतरण के मद्देनजर भारत ने रविवार को इन घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त की है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने रविवार को कहा कि नागरिक समाज और भारत के लोगों ने दो सिख लड़कियों के अपहरण, जबरन धर्मांतरण और निकाह कराए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की.

कुमार ने ट्विटर पर कहा, ”नागरिक समाज और भारत के लोग पाकिस्तान में दो सिख लड़कियों के अपहरण, जबरन धर्मांतरण और निकाह की हाल की निंदनीय घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं. हमनें पाकिस्तान को अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है और तत्काल उपचारात्मक कार्रवाई करने को कहा है.”  (इनपुट: एजेंंसी)