नई दिल्‍ली: दिल्‍ली सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी के चलते लगाए गए पहले के कुछ प्रतिबंधों में कुछ छूट दी है. दिल्‍ली सरकार ने आज मंगलवार को जारी अपने ताजा आदेश में स्‍ट्रीट वेंडर्स और हॉकर्स को सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक सामान बेचने की इजाजत दे दी है, लेकिन अभी हफ्ते लगने वाले हॉट-बाजारों को बंद ही रखा है. Also Read - Covid-19 in India Update : 24 घंटे में आए 65 हजार से अधिक नए मामले, अब तक 49 हजार से अधिक लोगों की गई जान

दिल्‍ली सरकार ने स्ट्रीट वेंडरों और फेरीवालों को दिल्ली में हर दिन 10 बजे से रात 8 बजे तक कार्य करने की अनुमति दी है, जिसमें यह छूट कंटेनमेंट जोन को छोड़कर दिल्ली में एक सप्ताह की अवधि के लिए है. हालांकि, अगले आदेश तक साप्ताहिक बाज़ारों की अनुमति नहीं है. Also Read - नताशा सुरी के बाद अब उनकी बहन रुपाली सूरी कोरोना से संक्रमित, इंस्टाग्राम पर लिखा- डर लग रहा है!

ता दें कि दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा था कि दिल्ली सरकार रेहड़ी व ठेले लगाने वालों और फेरीवालों को अपने काम और व्यवसायों को फिर से शुरू करने की अनुमति देने के लिए एक आदेश जारी करेगी.

कोरोना वायरस महामारी और इसके कारण लगे लॉकडाउन ने छोटे कारोबारों और व्यक्तिगत व्यवसायों दोनों को बुरी तरह से प्रभावित किया है, जिसमें सड़क किनारे सामान बेचने वाले, फेरीवाले विक्रेता सबसे अधिक प्रभावित होने वाले समूहों में शामिल हैं.

केजरीवाल ने एक डिजिटल प्रेस वार्ता में कहा था, ”एक विशेष आदेश पारित किया जा रहा है, जिसके माध्यम से रेहड़ी-पटरी वाले और फेरीवाले दिल्ली में अपने काम और आजीविका को फिर से शुरू कर सकते हैं.”

सरकार ने एक बयान में कहा कि फेरीवालों को हर दिन सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक काम करने की अनुमति दी जाएगी और उन्हें कोविड-19 के प्रसार से बचने के लिए सामाजिक दूरी और अन्य सभी एहतियाती उपाय सुनिश्चित करने होंगे.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कुछ भ्रम के कारण, इन लोगों को पहले काम करने की अनुमति नहीं थी, लेकिन अब उन्हें सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक काम शुरू करने की अनुमति होगी.

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने सोमवार को एक रोजगार पोर्टल जारी किया थाऔर इसके साथ ही व्यापारियों, उद्योगपतियों और लोगों से दिल्ली की अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने की अपील की. केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते हाल के दिनों में कई लोगों ने अपना रोजगार खो दिया और कारोबार पर भी इसका बुरा असर पड़ा. यह पोर्टल ”जॉब्स डॉट दिल्ली डॉट गव डॉट इन” नियोक्ताओं और रोजगार चाहने वाले दोनों के लिए एक रोजगार बाजार’’ की तरह काम करेगा.