नई दिल्ली: दिल्ली सरकार अगले महीने से दिल्ली वालों को नई सौगात देने वाली है. जुलाई महीने से दिल्ली वालों को गाड़ियों के ओनरशिप, मैरिज रजिस्ट्रेशन, कास्ट सर्टिफिकेट, डोमीसाइल सर्टिफिकेट,
इनकम सर्टिफिकेट, पानी का कनेक्शन, सीवर का कनेक्शन और ड्राइविंग लाइसेंस जैसे कामों के लिए कहीं जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी बल्कि ये सुविधा उन्हें घर बैठे ही मिलेगी. आम आदमी पार्टी की सरकार का कहना है कि वो डोरस्टेप डिलीवरी की अपनी इस महत्वकांक्षी योजना को जुलाई माह में शुरू करेगी.

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक एक बार इस स्कीम के शुरू होने के बाद दिल्ली वाले 40 सुविधाओं का लाभ घर बैठे उठा पाएंगे. अधिकारियों के मुताबिक, इस स्कीम के शुरू होने से न सिर्फ लोगों का समय बचेगा बल्कि सिस्टम में पारदर्शिता भी आएगी और लोगों को किसी काम के लिए रिश्वत नहीं देनी पड़ेगी.

स्कीम के तहत, किसी सुविधा का लाभ लेने के लिए लोगों को एक नंबर पर कॉल करके पहले अपनी बुकिंग करवानी पड़ेगी और फिर तय दिन के अनुसार अधिकारी उनके घर आकर उनका काम कर देंगे. हालांकि अभी नंबर जारी नहीं किया गया है, नंबर को जल्द ही जारी किया जाएगा. इस काम के लिए सरकार प्राइवेट एजेंसी की मदद लेगी और प्राइवेट कंपनी मोबाइल सहायकों की मदद से लोगों तक जरूरी डॉक्यूमेंट पहुंचाएगी. अनुमान के मुताबिक इस सुविधा के लिए लोगों से 50 रुपए लिए जाएंगे हालांकि अभी यह तय नहीं है.

अधिकारियों के मुताबिक इस स्कीम के लिए टेंडर प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है और अब तक तीन कंपनियों ने इसमें शामिल होने की इच्छा जताई है. जो भी कंपनी इसमें शामिल होगी उसे सॉफ्टवेयर तैयार करने और बाकी तैयारियों के लिए 6 हफ्ते का समय दिया जाएगा. दिल्ली सरकार ने 16 नवंबर को इस स्कीम को हरी झंडी दी थी. पिछले साल दिसंबर में उप राज्यपाल अनिल बैजल ने इस स्कीम को लौटाते हुए सरकार को सुझाव दिया था कि वो डिजिटल तरीके से डिलीवरी पर फोकस करे. उप राज्यपाल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बैजल पर भ्रष्ट सिस्टम को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था.