नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली इन दिनों प्रदूषण की मार झेल रही है और इसी को ध्यान रखते हुए दिल्ली सरकार ने 4 नवंबर से एक बार फिर से ऑड ईवन नियम को राजधानी में लागू किया है. ऑड ईवन के लागू होते ही दिल्ली सरकार ने ट्रांसपोर्ट बसों की संख्या बढ़ा दी है ताकि लोगों को आने जाने में किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े. इस समय दिल्ली की सड़कों पर लगभग 700 से ज्यादा प्राइवेट बसें चल रही हैं.Also Read - 60 हजार रुपये में बेची गई दिल्ली की नाबालिग लड़की, साले से शादी कराना चाहता था राजस्थान का गोपाल लेकिन....

ऑड ईवन चालू होने से दिल्ली ट्रांसपोर्ट की बसों में सवारी करने वालों की संख्या में लाखों का इजाफा हुआ है. यह आंकड़ा दो दिन के अनुसार है. एक जानकारी के अनुसार इन दिनों में बसों में चढ़ने वालों की संख्या में लगभग 7 लाख से ज्यादा की बढ़ोत्तरी हुई है. मिली सूचना के अनुसार दिल्ली सरकार के इस फैसले से पहले 3 दिसंबर को डीटीसी बसों में टिकट लेने वालों की संख्या 12 लाख 69 हजार 905 थी और यह संख्या चार नवंबर को बढ़कर 19 लाख 65 हजार से ज्यादा हो गई थी. Also Read - Delhi Pollution Today: बिगड़ने लगी दिल्ली की आबो-हवा, 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स

इतना ही नहीं ऑड ईवन के शुरू होने से मैट्रों में सफर करने वालों की संख्या में भी काफी बढ़ोत्तरी हुई है. मैट्रों की डिटेल अभी पूरी तरह से तैयार नहीं हुई है लेकिन अगले कुछ दिनों में यह मालूम हो जाएगा कि इसमें कितनी संख्या बढ़ी. परिवहन मंत्री ने बताया कि कनाट प्लेस की पार्किंग 50 प्रतिशत से ज्यादा खाली है इसका साफ मतलब यह निकलता है सड़कों पर पहले के मुताबिक कम गाड़ियां चल रही हैं और लोग इस नियम का पालन भी कर रहे हैं. Also Read - फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं राहुल गांधी, CWC की बैठक में बोले- नेताओं ने दबाव बनाया तो विचार करूंगा

सोमवार से लागू हुआ यह नियम 15 नवंबर तक जारी रहेगा. गौरतलब है कि इस नियम के तहत ऑड-ईवन नियम के तहत ऑड (विषम- 1,3,5,7,9) तारीख को ऑड नंबर की कार और ईवन (सम संख्या – 2,4,6,8,0) तारीख को इवन नंबर की कार चलेगी. ऑड ईवन के दूसरे दिन 550 से ज्यादा लोगों के चालान काटे गए. आपको बता दें कि इसके एक दिन पहले चार नवंबर को 270 लोगों के चालान काटे गए थे. ऑड ईवन के पहले दिन कुल 6173 बसें सड़कों पर चल रही थी जबकी दूसरे दिन सरकार को बसों की संख्या में इजाफा करना पड़ा और कुल 6219 बसें चलाई गईं.

योजना के तहत 4, 6, 8, 12 और 14 नवंबर को सड़कों पर विषम पंजीकरण संख्या (1, 3, 5, 7, 9) से समाप्त होने वाले चार पहिया निजी वाहनों को सड़कों पर निकलने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इसी तरह, सम संख्या (0, 2, 4, 6, 8) के साथ समाप्त होने वाले पंजीकरण संख्या वाले वाहनों को 5, 7, 9, 11, 13 और 15 नवंबर को सड़कों पर चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी.