नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने बुधवार को सभी साप्ताहिक बाजारों को तत्काल प्रभाव से राष्ट्रीय राजधानी में फिर से शुरू करने की अनुमति देने का फैसला किया है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने महानगर में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा के बाद यह निर्णय लिया. Also Read - How To Stay Safe In Gathering: कोरोना के दौर में आप जा रही हैं किसी शादी या फंक्शन में तो इन खास बातों का रखें ध्यान

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर कहा, ‘‘अब दिल्ली के सभी साप्ताहिक बाज़ार खुल सकेंगे. गरीब लोगों को इससे काफ़ी राहत मिलेगी.’’ बुधवार को जारी किए गए अपने आदेश में, मुख्य सचिव विजय देव ने कहा कि कोविड-19 निरूद्ध क्षेत्र को छोड़कर सभी साप्ताहिक बाजारों को तत्काल प्रभाव से शुरू करने की अनुमति दी गई है. Also Read - India Covid-19 Updates: कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 81 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 48 हजार से ज्यादा केस

हालांकि सरकार की तरफ से कहा गया है कि बाजार को खोलने के लिए कारोबारियों को कोरोना वायरस पैंडमिक के रूल्स को फॉलो करना हो. सोशल डिस्टेंसिंग बनाना जूरूरी होगा और साथ ही मास्क और सेनेटाइजर की भी व्यवस्था दुकान में होनी चाहिए. Also Read - जल्द आने वाला है कोरोना का टीका! केंद्र ने राज्यों से कहा- सुचारु टीकाकरण के लिए समिति गठित करो

सप्ताहिक बाजारों को खोलने से पहले दिल्ली सरकार ने बुधवार को एक और बड़ा फैसला लिया जिसमें अब राजधानी में अब 24 घंटे रेस्टोरेंट खोलने के लिए भी सीएम केजरीवाल ने अपनी सहमति जता दी है. उन्होंने रेस्टोरेंट मालिकों से कहा है यदि वे रेस्टोरेंट खोलना चाहते हैं तो उन्हें सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दिल्ली सचिवालय में नेशनल रेस्टोरेंट आसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनआरएआई) के साथ एक अहम बैठक की. यह बैठक रेस्टोरेंट इंडस्ट्री को परमिट राज से मुक्ति दिलाने और नई नौकरियां पैदा करने को लेकर थी.

सीएम ने रेस्टोरेंट संचालकों को उत्पाद शुल्क को 31 मार्च तक जमा करने की छूट देने का फैसला किया है और उत्पाद शुल्क को बिना किसी ब्याज के तिमाही जमा करने की अनुमति दी गई है.