Delhi violence: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा के बीच खजूरी खास इलाके में तीन दिन पहले परीक्षा देने के लिए स्कूल गई 13 वर्षीय लड़की लापता है. पुलिस ने बुधवार को बताया कि आठवीं कक्षा की छात्रा सोनिया विहार में अपने माता-पिता के साथ रहती है और वह सोमवार को सुबह अपने घर से करीब 4.5 किलोमीटर दूर अपने स्कूल गई थी, लेकिन तब से लौटी नहीं. Also Read - Delhi Violence: PFI का दिल्ली प्रमुख परवेज व सचिव इलियास गिरफ्तार, कोर्ट ने 7 दिन की हिरासत में भेजा

बता दें कि उत्‍तर-पूर्वी दिल्‍ली में हुई हिंसा में अब तक 33 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 200 से अधिक लोग घायल हैं. Also Read - दिल्ली हिंसा में किसी के साथ नहीं होगा पक्षपात, आरोपी को पाताल से भी ढूंढ कर लाएंगे: अमित शाह

रेडीमेड कपड़ों का कारोबार करने वाले उसके पिता ने कहा, ”मुझे शाम पांच बजकर 20 मिनट पर उसे स्कूल से लेने जाना था. लेकिन मैं हमारे इलाके में चल रही हिंसा में फंस गया. तब से मेरी बेटी लापता है.” एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुमशुदगी की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और लड़की की तलाश चल रही है. Also Read - Delhi Violence: IB अफसर अंकित शर्मा की हत्या के मामले में आरोपी सलमान गिरफ्तार

मौजपुर के विजय पार्क निवासी एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि दो दिन से शिव विहार के एक घर में फंसे उनके परिवार के सदस्यों से मंगलवार रात से कोई संपर्क नहीं हो पाया है.

70 वर्ष की आयु के आसपास के मोहम्मद सबीर ने कहा, ”मेरा मदीना मस्जिद के पास शिव विहार में भी एक मकान है. मेरे दो बच्चे वहां रहते हैं, दो यहां विजय पार्क में मेरे साथ रहते हैं. इलाके में हिंसा के कारण मेरा उनसे संपर्क नहीं हो सका और गत रात से उनसे कोई संपर्क नहीं है.”

मोहम्मद सबीर ने कहा, उन्होंने कल मुझे घर को भीड़ द्वारा घेरे जाने के बारे में बताया था और वे भाग निकले, लेकिन मुझे मालूम नहीं है कि अब वे कहां हैं. इलाके में स्थिति तनावपूर्ण है और पुलिस से मेरी अपील है कि कृपया हमारी मदद कीजिए.

मौजपुर, जाफराबाद, चांदबाग, घोंडा समेत उत्तरपूर्वी दिल्ली के आवासीय इलाकों में सोमवार से हो रही हिंसा में कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक घायल हो गए हैं.

हिंसाग्रस्त इलाकों में सड़कों पर बड़ी संख्या में पुलिस और अर्द्धसैन्य बल के कर्मी मौजूद है, जिससे बुधवार को कुछ हिस्सों में अजीब से खामोशी छाई रही, लेकिन लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि हिंसा में अभी तक 18 प्राथमिकियां दर्ज की गई है और 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.