नई दिल्ली: दिल्ली की सांप्रदायिक हिंसा में मृतकों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 39 पहुंच गई. दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उत्तर पूर्व दिल्ली के दंगा प्रभावित कुछ इलाकों में दुकानें खुलने के साथ ही हालात सामान्य होते दिखे. उत्तरपूर्व जिले के प्रभावित इलाकों में सोमवार से करीब 7,000 अर्द्धसैनिक बल तैनात हैं. शांति कायम रखने के लिए दिल्ली पुलिस के सैकड़ों कर्मी ड्यूटी पर हैं. उधर, तीन दिन तक धूं-धूं कर जले उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में जुमे की नमाज की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. जिले में तैनात पुलिस और खुफिया तंत्र ने गुरुवार दोपहर से ही इलाके में मौजूद मस्जिदों की सूची बनाना शुरू कर दिया था. मिले आंकड़ों के अनुसार ही संबंधित इलाकों में और मस्जिदों पर शुक्रवार सुबह से ही पुलिस, खुफिया तंत्र और अर्धसैनिक बल तैनात कर दिया गया है. Also Read - दिल्ली सरकार ने अगले महीने के लिए राशन देना शुरू किया, जानिए कहां मिलेगी ये सुविधा

Delhi Violence: उत्तर पूर्व दिल्ली में बीते 36 घंटे में कोई बड़ी घटना सामने नहीं आई: गृह मंत्रालय Also Read - भारत में लॉकडाउन! दिल्ली पुलिस ने लोगों को चेताया, भूलकर भी न खोलें ये वेबसाइट, नहीं तो...

दिल्ली के उत्तर पूर्व इलाके में 24 और 25 फरवरी को हुई हिंसा के बाद अस्पतालों में घायलों को लाये जाने का सिलसला अब थम गया है. दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल(एलएनजेपी) में गुरुवार रात से कोई भी नया मरीज नही लाया गया है. अस्पताल के डिप्टी चीफ मेडिकल ऑफिसर रितु सक्सेना ने बताया कि गुरुवार रात 10.00 बजे के बाद से हिंसा से प्रभावित एक भी नया मरीज या घायल व्यक्ति अस्पताल नही लाया गया है. 24 और 25 फरवरी के हिंसा के बाद एलएनजेपी अस्पताल में 56 घायल लोग लाये गये थे, जिनमें से तीन की मौत हो चुकी है. मृतक का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंपा जा चुका है. उधर, जिले में तैनात पुलिस और खुफिया तंत्र ने गुरुवार दोपहर से ही इलाके में मौजूद मस्जिदों की सूची बनाना शुरू कर दिया था. पता चला कि सबसे ज्यादा मस्जिदें मुस्तफाबाद, नूर-ए-इलाही इलाके में हैं. इन इलाकों के अलावा भी जिन अन्य इलाकों में भी मस्जिदें हैं वहां के मुअजिज लोगों से पुलिस ने बीती देर रात तक संपर्क किया. Also Read - VIDEO: Lockdown के दौरान मस्जिद में नमाज अदा की, बाहर निकलते ही पड़े पुलिस के डंडे

Delhi Violence: उत्तर पूर्वी दिल्‍ली के स्कूलों में तोड़फोड़, कई स्कूलों के पुस्तकालयों में लगाई गई आग

40 लोग पत्थरबाजी में घायल
डिप्टी सीएमओ के मुताबिक, “गोली लगने से घायल लोगों में से 3 की मौत हो चुकी है जबकि दो का उपचारर चल रहा है. फिलहाल दोनों की हालत स्थिर है. 40 लोग पत्थरबाजी में घायल बताये गए हैं. उनकी हालत अभी अभी स्थिर हैं. इस बीच दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में मरने वालों की संख्या 35 होने के साथ ही कुल मृतकों की संख्या 39 हो गई है. गौरतलब है कि दिल्ली के नार्थ ईस्ट इलाके में 24 और 25 फरवरी की हिंसा में 200 से ज्यादा लोग घायल हो गये थे. शुक्रवार को आज जुमे की नमाज को देखते हुए पुलिस ने हिंसाग्रस्त इलाकों में धारा 144 में चार घंटे की ढील दी है,जिससे लोगों को सहुलियत हो सके. इस बीच दिल्ली के कई इलाके में गुरुवार से माहौल सुधरने लगा है. जिंदगी पटरी पर लौटने लगी है और लोग रोजमर्रा के काम में मशगूल होने लगे हैं. (इनपुट एजेंसी)