Delhi violence Updates: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में एक पुलिसकर्मी सहित 10 व्यक्तियों की मौत हो गई है और वह असामाजिक तत्वों की संलिप्तता वाली घटनाओं पर कार्रवाई कर रही है. हालांकि, दिल्‍ली के कई हिस्से अभी भी हिंसा की चपेट में हैं. Also Read - गृह मंत्रालय ने बदले नियम : प्रवासी मजदूरों के भोजन, ठहरने की व्यवस्था के लिए राज्य आपदा राहत कोष का इस्तेमाल करें

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मनदीप रंधावा ने कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में स्थिति नियंत्रण में है. हालांकि राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्से अभी भी हिंसा की चपेट में हैं. रंधावा ने कहा कि हिंसा के संबंध में 11 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं. नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हिंसा पर दिल्ली पुलिस पीआरओ एमएस रंधावा नेे कहा, 56 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, हेड कांस्टेबल रतन लाल की जान गई, डीसीपी शाहदरा को भी लगी सिर में चोट है और 130 नागरिक घायल हैं. Also Read - दिल्ली सरकार ने अगले महीने के लिए राशन देना शुरू किया, जानिए कहां मिलेगी ये सुविधा

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने कहा, ”हम असामाजिक तत्वों से जुड़ी घटनाओं पर कार्रवाई कर रहे हैं. उत्तर पूर्वी दिल्ली में पर्याप्त बल तैनात किया गया है. आरएएफ और सीआरपीएफ को भी तैनात किया गया है.” उन्होंने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी स्थिति पर करीब से नजर रख रहे हैं. Also Read - Coronavirus महामारी से पूरी दुनिया में मरने वालों की संख्या 25,000 के पार हुई

चांदबाग में फिर हिंसा
– उत्तर पूर्व दिल्ली के चांदबाग इलाके में हिंसा के ताजे दौर के तहत मंगलवार शाम को दंगाइयों ने दुकानों में आग लगा दी और पथराव किया
– पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे लेकिन यह प्रयास व्यर्थ रहा
– स्थिति नियंत्रण में लाने के लिए अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है
– दंगाइयों ने बेकरी की एक दुकान और फलों के कई ठेलों को फूंक दिया
– पुलिस के मुताबिक, उत्तरपूर्व दिल्ली में हिंसा में कम से कम दस लोगों की जान चली जाने की खबर है

आगजनी और पथराव होने के बाद भजनपुरा और खुरेजी खास में फ्लैग मार्च
– उत्तर पूर्व दिल्ली के भजनपुरा और खुरेजी खास इलाके में मंगलवार को आगजनी और पथराव होने के बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च किया
-विशेष पुलिस आयुक्त सतीश गोलचा और प्रवीर रंजन ने फ्लैग मार्च की अगुवाई की.
– भजनपुरा में बैटरी की एक दुकान जला दी गई और उस दुकान में तोड़फोड़ की गई
– सड़क पर जली हुई बैटरियां बिखरी नजर आई
– स्थानीय व्यक्ति राकेश कुमार ने कहा कि करीब साढ़े तीन बजे यह यह घटना घटी
– राकेश कुमार ने कहा, ”हम नहीं जानते कि स्थिति कैसे बिगड़ी. हम अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतिंत है. मेरा परिवार अपने घर के नजदीक ऐसी चीज देखकर डरा हुआ है.”

– दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने शहादरा की ओर से अप्‍सरा बॉर्डर ट्रैफिक मूवमेंट को यूपी पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग के बाद बंद कर दिया है
– ट्रैफिक को सूर्या नगर की ओर डाइवर्ट किया गया है.

भीड़ को नियंत्रित करने आंसू गैस और हल्के लाठीचार्ज
विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था, उत्तरी क्षेत्र) गोलचा ने कहा, ”हम उपयुक्त कार्रवाई कर रहे हैं. जरूरी बल का इस्तेमाल किया जा रहा है. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस और हल्के लाठीचार्ज का इस्तेमाल किया गया है. हम बदमाशों को हिरासत में लेंगे और उनके विरुद्ध उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी.” उन्होंने कहा, फिलहाल इलाके में पथराव रूक गया है. जब तक स्थिति नियंत्रण में नहीं आ जाती, हम वहां बने रहेंगे. यदि जरूरत महसूस हुई तो हम अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात करेंगे.”

उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा: दिल्ली पुलिस कमिश्नर
दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने दिल्ली में हुई हिंसा पर कहा, उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा, उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी. पर्याप्त पुलिस बल, सीएपीएफ और वरिष्ठ अधिकारी उत्तर पूर्व जिले में तैनात हैं. जिले के कुछ इलाकों में धारा 144 लागू है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय से पर्याप्त बल नहीं मिलने वाली खबर झूठी: अमूल्य पटनायक
दिल्ली के पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने कहा कि कुछ समाचार एजेंसी ने खबर चलाई कि दिल्ली पुलिस ने कहा कि उसे केंद्रीय गृह मंत्रालय से पर्याप्त बल नहीं मिला है, यह जानकारी गलत है. MHA लगातार हमारा समर्थन कर रहा है और हमारे पास पर्याप्त बल हैं. दिल्ली पुलिस इससे पूरी तरह इनकार करती है.