नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के मंत्रिमंडल ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान क्षतिग्रस्त हुए मकानों के लिए दी जाने वाली मुआवजा राशि बढ़ाने की घोषणा गुरुवार को की. एक सरकारी वक्तव्य के अनुसार मुआवजा देने के वास्ते किसी बहुमंजिला इमारत के प्रत्येक तल को एक आवासीय इकाई माना जाएगा. Also Read - लॉकडाउन के दौरान 'गंभीर चूक', केंद्र ने दिल्ली सरकार के दो अधिकारियों को किया निलंबित

वक्तव्य के अनुसार आवासीय इकाइयों में घरेलू सामानों की पूरी लूट होने पर एक लाख रुपए और आंशिक लूट होने पर पचास हजार रुपए मुआवजा दिया जाएगा. पिछले सप्ताह हुई हिंसा में क्षतिग्रस्त हुए स्कूलों को दस लाख रुपए तक मुआवजा दिया जाएगा. Also Read - अरविंद केजरीवाल का प्रवासी श्रमिकों से आग्रह, 'आप जहां भी हैं वहीं रुकिए, हम आपके घर का किराया चुकाएंगे’

इससे पहले सरकार ने मकान के पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने पर पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की थी जिसमें चार लाख मकान मालिक को और किराएदार को एक लाख रुपए का मुआवजा मिलता. Also Read - दिल्ली सरकार ने अगले महीने के लिए राशन देना शुरू किया, जानिए कहां मिलेगी ये सुविधा

(इनपुट भाषा)