नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के मंत्रिमंडल ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान क्षतिग्रस्त हुए मकानों के लिए दी जाने वाली मुआवजा राशि बढ़ाने की घोषणा गुरुवार को की. एक सरकारी वक्तव्य के अनुसार मुआवजा देने के वास्ते किसी बहुमंजिला इमारत के प्रत्येक तल को एक आवासीय इकाई माना जाएगा. Also Read - Covid-19 in Delhi: 80% ICU और वार्ड बेड आरक्षित रखें, सभी नर्सिंग होम और निजी हॉस्पिटलों को निर्देश; 2 के खिलाफ केस

वक्तव्य के अनुसार आवासीय इकाइयों में घरेलू सामानों की पूरी लूट होने पर एक लाख रुपए और आंशिक लूट होने पर पचास हजार रुपए मुआवजा दिया जाएगा. पिछले सप्ताह हुई हिंसा में क्षतिग्रस्त हुए स्कूलों को दस लाख रुपए तक मुआवजा दिया जाएगा. Also Read - दिल्ली सरकार ने बेहतर कोविड प्रबंधन के लिए प्राइवेट अस्पतालों में तैनात किए नौकरशाह

इससे पहले सरकार ने मकान के पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने पर पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की थी जिसमें चार लाख मकान मालिक को और किराएदार को एक लाख रुपए का मुआवजा मिलता. Also Read - Delhi School closed: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बड़ा फैसला, दिल्ली में सभी स्कूल अगले आदेश तक बंद

(इनपुट भाषा)