नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा मामले में उमर खालिद व अन्य लोगों पर मुकदमा चलाने के लिए गृह मंत्रालय और दिल्ली सरकार ने स्वीकृति दे दी है. गौरतलब है कि UAPA के तहत दिल्ली में हिंसा भड़काने के आरोप में उमर खालिद को गिरफ्तार किया गया था. बता दें कि गृह मंत्रालय के मंजूरी के बगैर UAPA कानून के तहत किसी भी व्यक्ति पर मुकदमा नहीं चलाया जा सकता है. Also Read - दिल्ली में लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्प? हाईकोर्ट ने कोरोना के रोकथाम पर पूछा सवाल

इस अनुमति के बाद दिल्ली पुलिस जल्द ही दिल्ली हिंसा मामले में उमर खालिद और शरजील इमाम के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने वाली है. वहीं उमर खालिद के खिलाफ क्राइम ब्रांच की टीम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी.गौरतलब है कि जेएनयू के छात्र उमर खालिद को 14 सितंबर को दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था. Also Read - Lockdown In Delhi News Update: दिल्ली में तत्काल लॉकडाउन लगाने को लेकर हाईकोर्ट ने कही ये बात

बता दें कि उमर खालिद की न्यायिक हिरासत की अवधि को बढ़ाने के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा कड़कड़डूमा कोर्ट में अर्जी डाली गई थी. इसपर कोर्ट ने उमर खालिद की न्यायिक हिरासत को 20 नवंबर तक के लिए बढ़ा दिया है. इस मामले पर उमर के वकील का कहना है कि उमर खालिद ने जांच में पुलिस के साथ सहयोग किया है. ऐसे में वकील ने दिल्ली पुलिस द्वारा दाखिल अर्जी का विरोध किया है. Also Read - Delhi Violence: दिल्ली हिंसा मामले में छात्र नेता गुलफिशा फातिमा को जमानत