नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस द्वारा दिल्ली दंगों के मामले में आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को आरोपी बनाने के लगभग 20 दिन बाद प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार को उसके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जांच के लिए छह ठिकानों पर तलाशी ली. ईडी के एक सूत्र ने आईएएनएस को बताया, “एजेंसी की कई टीमें हुसैन से संबंधित राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में उसके छह ठिकानों पर खोज कर रही हैं.” सूत्र ने कहा कि वित्तीय जांच एजेंसी की टीमें उत्तर पूर्वी दिल्ली में चार स्थानों और नोएडा में दो स्थानों पर तलाशी ले रही हैं. Also Read - कांग्रेस छोड़ आप में जाएंगे सिद्धू! सीएम अमरिंदर ने कही ये बात

ईडी की कार्रवाई हुसैन के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज करने के लगभग तीन सप्ताह बाद हुई है, जो वर्तमान में न्यायिक हिरासत में है. ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया, “हमने हुसैन और पीएफआई के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है.” अधिकारी ने कहा कि हुसैन और पीएफआई को मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत बुक किया गया है. पीएफआई पर पहले से ही देशभर में सीएए के विरोध में हुए प्रदर्शनों के वित्तपोषण में उसकी कथित भूमिका के लिए केंद्रीय वित्तीय जांच एजेंसी का एक मामला चल रहा है. फरवरी के अंतिम सप्ताह में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए सांप्रदायिक दंगों में 52 से अधिक लोग मारे गए थे. Also Read - Oxygen Crisis: दिल्‍ली CM पर MP गौतम गंभीर का हमला, 8 ऑक्सीजन प्लांट आपको लगाने थे, 1 ही लगा, बाकी का क्‍या हुआ?

ईडी फंडिंग और आय के उस स्रोत की जांच कर रहा है, जो हुसैन को कथित तौर पर दिल्ली में हिंसा भड़काने के लिए मिला था. दिल्ली हिंसा के बाद, हुसैन की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी, क्योंकि उसके घर से पुलिस ने कई पेट्रोल बमों के साथ-साथ तेजाब बरामद किया था. पूर्वोत्तर दिल्ली के खजूरी खास इलाके में स्थित उसके घर का इस्तेमाल हिंसा के दौरान पथराव करने और पेट्रोल बम फेंकने के लिए किया गया था. 2 जून को, दिल्ली पुलिस ने इस सिलसिले में दो आरोपपत्र दायर किए थे. क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है. दंगों के दौरान दर्ज मामलों की जांच के लिए तीन विशेष जांच दल गठित किए गए थे. Also Read - अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना वायरस से संक्रमित, मुख्यमंत्री ने खुद को किया क्वारेंटाइन