नई दिल्ली: नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुए हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. यही नहीं इस हिंसा में कई घरों को भी जलाकर राख कर दिया गया. इसी दौरान बीएसएफ के एक जवान मोहम्मद अनीस के घर को भी आग के हवाले कर दिया गया था. हिंसा के वक्त अनीस ड्यूटी पर तैनात थे. घर की नुकसान की भरपाई के लिए बीएसएफ महानिरीक्षक डीके उपाध्याय ने मोहम्मद अनीस को 10 लाख रुपये का चेक भरपाई के तौर पर दिया ताकि घर की मरम्मत दोबारा से की जा सके. Also Read - चार दिन से आग में झुलस रहे हैं उत्तराखंड के जंगल, काबू न होने पर भयावाह हो सकती है स्थिति

गौरतलब है कि बीते दिनों नागरिकता कानून विरोधी प्रदर्शकारियों और नागरिकता कानून के समर्थन में उतर प्रदर्शनकारियों के बीच हुए पथराव के बाद भीड़ ने हिंसा का रूप ले लिया. इसके बाद कई घरों व धार्मिक स्थानों को आग के हवाले कर खूब तोड़-फोड़ मचाया गया था. इस हिंसा में एक आईबी अधिकारी, एक पुलिस कॉन्सटेबल सहित कईयों की मौत हो चुकी हैं. Also Read - गुजरात: सूरत में केमिलकल फैक्‍ट्री में लगी भयंकर आग, 12 फायर टेंडर्स आग बुझाने में जुटीं

वहीं बीती रात जनकपुरी व द्वाराक इलाकों में भी हिंसा की बात सामने आई. लेकिन पुलिस ने मोर्चा संभाले रखा और माइक पर सूचना दी गई कि दंगे की अफवाह फैलाई जा रही है. इसके बाद हिंदू-मुस्लिम सभी ने मिलकर एक साथ दिल्ली पुलिस जिंदाबाद के नारे भी लगाएं. Also Read - प्रयागराज में इलेक्‍ट्रॉनिक मार्केट में लगी भयंकर आग, फायर फाइटर्स बुझाने में जुटे