नयी दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने उत्तरपूर्वी दिल्ली में हुए साम्प्रदायिक दंगों और सीएए विरोधी प्रदर्शनों में कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किए गए पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के दिल्ली अध्यक्ष और उसके राज्य सचिव को बृहस्पतिवार को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. Also Read - शाहीनबाग: फर्नीचर की दुकान में लगी आग, मौके पर पहुंचे दमकलकर्मी, कोई हताहत नहीं

  Also Read - शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को हटाया तो लोगों ने दिल्‍ली पुलिस के अफसर-कर्मियों को दिए फूल

मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक ने इस्लामिक समूह पीएफआई के दिल्ली अध्यक्ष परवेज और राज्य सचिव इलियास को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने उन्हें बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया था और अदालत में पेश किया था. पीएफआई के एक अन्य सदस्य 33 वर्षीय मोहम्मद दानिश को दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा दिया था. पुलिस ने दलील दी थी कि ‘वृहद षडयंत्र’ का पता लगाने के लिए उसे हिरासत में ले कर पूछताछ की जरूरत है.

दंगे भड़काने का षड़यंत्र रचने का आरोप
पुलिस ने कहा कि दानिश को पिछले माह उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगे भड़काने का षड़यंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार किया था. गौरतलब है कि पीएफआई एक कथित कट्टरपंथी समूह है और इस पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन को आर्थिक सहायता मुहैया कराने के आरोप हैं.