चेन्नई: सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) ने दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. इस हिंसा में अब तक 25 लोगों की मौत हो गई. उन्होंने कहा कि हिंसा से कड़ाई से निपटना चाहिए था. Also Read - लाकडाउन में केंद्र सरकार का राहत भरा कदम, फरवरी से समाप्त ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता इस माह तक बढ़ाया

  Also Read - Covid-19: केंद्र सरकार ने कंपनियों से कहा, न छंटनी करें और न किसी का पैसा काटें

अभिनेता ने यह भी कहा कि विरोध प्रदर्शन को हिंसक नहीं होना चाहिए और उन्होंने अपने उस पुराने बयान को भी याद किया जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर सीएए मुस्लिमों को प्रभावित करता है तो वह मुस्लिमों के साथ खड़े हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि निश्चित तौर पर यह केंद्र सरकार की खुफिया विफलता है. मैं केंद्र सरकार की कड़ी निंदा करता हूं. अभिनेता ने मीडिया के एक तबके द्वारा उनके संबंध भाजपा से जोड़े जाने पर भी दुख व्यक्त किया.

दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या 25 हुई
एलएनजेपी अस्पताल में बुधवार को दो लोगों की मौत के साथ उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. एलएनजेपी अस्पताल में मौत के ये पहले मामले हैं जो उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा से जुड़े हैं. इस अस्पताल में सोमवार शाम से ऐसे कई लोग पहुंचे हैं जो हिंसा में घायल हुए हैं.