नयी दिल्ली: आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने रविवार को उत्तरपूर्वी दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाकों के निवासियों से मुलाकात की और कहा कि हिंसा के दोषियों को दंडित किया जाना चाहिए. ब्रह्मपुरी के अपने दौरे में उन्होंने कहा कि यह देखना बहुत दुखद है कि इतने सारे लोग हिंसा से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. Also Read - Tabligi Markaz: मौलान साद की बढ़ने वाली हैं मुश्किलें, 20 देशों के 83 विदेशियों के खिलाफ मामला दर्ज, 14000 पन्नों की है चार्जशीट

आध्यात्मिक गुरु ने कहा कि हमें उन्हें इस सदमे से निकालना होगा और उनके जीवन को वापस पटरी पर लाना होगा. उन्होंने पत्रकारों से कहा कि हमें उन लोगों के उदाहरणों से सीखना चाहिए जिन्होंने दूसरों की जान बचाई और जो मानवता के लिए खड़े रहे. हमें असामाजिक तत्वों को दरकिनार करना चाहिए और उन्हें दंडित करना चाहिए. इस बीच, शिवविहार में एक नाले से एक शव को बाहर निकाला गया, जहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है. Also Read - 916 तब्लीगी जमातियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस लेगी बड़ा एक्शन, इन आरोपों के तहत दायर होगी चार्जशीट

Delhi Violence: हिंसा थमने के बाद गोकुलपुरी व भागीरथी विहार में नाले से बरामद हुए तीन शव Also Read - दिल्ली पुलिस के कोरोना संक्रमित कर्मचारियों को 1 लाख के बजाय मिलेंगे सिर्फ 10 हजार रुपये, अधिकारियों ने लिया फैसला

उत्तरपूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार में हिंसा में 42 लोगों की मौत हुई है और 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं. बड़ी संख्या में संपत्ति को नुकसान पहुंचा है. उपद्रवियों की भीड़ ने घरों, दुकानों, वाहनों और एक पेट्रोल पंप को आग लगा दी और स्थानीय लोगों एवं पुलिसकर्मियों पर पथराव किया.