नई दिल्ली: लोन दिलाने के नाम पर एक महिला से 3.8 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है. दिल्ली एक महिला लोन नहीं लेना चाहती थी. उसे कम इंट्रेस्ट पर लोन दिलाने की बात कही गई, फिर भी महिला लोन लेने से मना करती रही. बाद में उसे कथित लोन दिलाने वाले एजेंट ने ठग लिया. पिछले महीने वेस्ट दिल्ली के रेजिडेंट ने एक महिला को अपने घर बुलाया. उसने अपना परिचय लोन दिलाने वाले एजेंट के रूप में दिया. महिला को लोन देने के लिए उसने पेपर वर्क पूरे किए और राष्ट्रीय बैंक से लोन दिलाने की बात कही. Also Read - दिल्ली पुलिस की किरकिरी, डीसीपी का पीए छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार

महिला ने आधार के साथ सारे कागजात उस व्यक्ति को दे दिए. महिला ने साइन किया हुआ कैंसल चेक भी दिया. उस व्यक्ति ने महिला के सामने एक लाइन ड्रॉ किया और महिला को इस बात का भरोसा दिलाने में सफल रहा कि उसका चेक कैंसल चेक है. Also Read - दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल थान सिंह हैं रियल लाइफ 'सिंघम', लगाते हैं गरीब बच्चों की पाठशाला

डॉक्यूमेंट का काम पूरा करने के 30 मिनट बाद महिला के मोबाइल पर मैसेज आया कि उसके एकाउंट से 3.8 लाख रुपए निकाले गए हैं. इसके बाद महिला तुरंत बैंक पहुंची और इस बारे में जानकारी हासिल की, लेकिन बैंक ने कहा कि चेक पर आपके साइन थे, इस मामले में हम कुछ नहीं कर सकते. इसके बाद महिला ने पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने इस हफ्ते आरोपी 40 साल के दीपक अरोड़ा को गिरफ्तार कर लिया. Also Read - Rahul Rajput Adarsh Nagar Murder Case: लड़की के सामने की गई थी राहुल की हत्या, पुलिस ने कहा- दोस्त ने ही आरोपियों की पहचान की

आरोपी ने पत्नी के इलाज के  लिए बनाया था प्लान
पुलिस अधिकारी विजय कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि उसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर लोगों को धोखा देने का प्लान बनाया. आरोपी का कहना है कि पत्नी के इलाज के लिए उसने लोगों को धोखा देने का प्लान बनाया. पुलिस का कहना है कि आरोपी की पत्नी गंभीर बीमारी से पीड़ित है.

IPL के सट्टे में हारा पैसा
पुलिस का कहना है कि महिला के कथित कैंसल चेक से 3.8 लाख रुपए निकालने के बाद आरोपी ने आधे पैसे अपनी पत्नी को इलाज के लिए दे दिए और सहारनपुर के लिए निकल गया. बाकी बचे पैसों से उनके आईपीएल में सट्टा लगाया लेकिन हार गया. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तो उसके पास मात्र 60 हजार रुपए बचे थे. पुलिस ने बताया कि आरोपी की पत्नी दिल्ली के अलग-अलग होटलों में रही और अपनी बीमारी के इलाज पर पैसे खर्च किए. हालांकि आरोपी को पत्नी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है.