नई दिल्‍ली : शनिवार को दिल्ली में हवा की गुणवत्‍ता अचानक खराब हो गई. सुबह 7 बजे आनंद विहार इलाके में वायु की गुणवत्‍ता का स्‍तर खतरनाक स्‍तर पर पहुंच गया. यहां पीएम-10 (पार्टिकुलेट मैटर) 699 दर्ज किया गया. बाकी इलाकों में भी एयर क्‍वालिटी अच्‍छी नहीं रही. पूर्वी दिल्‍ली में शाहदरा, पटपड़गंज, दिलशाद गार्डन, सोनिया विहार में भी वायु गुणवत्‍ता खतरनाक स्तर पर दर्ज की गई. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, सुबह सात बजे तक श्रीनिवासपुरी में पीएम 2.5 का स्‍तर 317, जबकि शाहदरा में पीएम-10 का स्‍तर 569, वजीरपुर में 680, रोहिणी में 493, मुंडका में 423, अशोक विहार में 362 दर्ज किया गया.

शून्य से 50 अंक के बीच हवा की गुणवत्ता को अच्छा, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच की स्थिति को खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब और 401 से 500 अंकों के बीच की स्थिति को गंभीर श्रेणी में रखा जाता है. PM यानी पार्टिक्यूलेट मेटर, ठोस और लिक्विड के कण होते हैं जो हवा में तैरते रहते हैं. वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार द्वारा पराली जलाने का मुद्दा बार-बार उठाए जाने के बावजूद केंद्र सरकार, हरियाणा और पंजाब सरकार ने इस पर कोई ठोस कदम नहीं उठाए.

उन्होंने आशंका जताई कि ठंड का मौसम आते ही फिर से दिल्ली समेत यह पूरा क्षेत्र गैस चैंबर बन जाएगा और लोगों को सांस लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ेगा.केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘हम केंद्र, हरियाणा और पंजाब सरकारों के साथ इस मामले को उठाते रहे हैं, फिर भी अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए. किसान फिर से असहाय हो गए हैं. दिल्ली समेत पूरा क्षेत्र फिर से गैस चेंबर बन जाएगा. लोगों को फिर से सांस लेने में कठिनाई का सामना करना पड़ेगा. यह अपराध है.