नई दिल्ली: दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल के एक डॉक्‍टर की रविवार को कोविड-19 संक्रमण के कारण एक निजी अस्पताल के आईसीयू में मौत हो गई. दिल्ली सरकार ने एलएनजेपी अस्पताल को केवल कोविड-19 मरीजों के इलाज वाले अस्पताल के रूप में तब्दील किया है. Also Read - सावधान! कोरोना पर 32 देशों के सैकड़ों वैज्ञानिकों का चौंकाने वाला दावा- हवा से भी फैलता है COVID-19

सूत्रों ने बताया कि डॉक्‍टर की मैक्स स्मार्ट के आईसीयू में मौत हो गई, जो साकेत में कोविड-19 अस्पताल है. एलएनजेपी अस्पताल की तरफ से आए बयान में कहा गया है, ”वह एनेस्थीसिया के डॉक्टर थे जो ड्यूटी करते समय कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे. हल्के लक्षण मिलने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां 6 जून को उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी. हालत बिगड़ने पर उन्हें सात जून को एलएनजेपी अस्पताल की सघन चिकित्सा इकाई में भर्ती किया गया.” Also Read - देश में 24 घंटे में कोराना के 24 हजार से ज्‍यादा नए मामले, कुल आंकड़ा 7 लाख के पास

आठ जून को उन्हें मैक्स अस्पताल के आईसीयू में स्थानांतरित किया गया. अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया, ”आज सुबह वह जिंदगी की जंग हार गए.” Also Read - दुनिया के सबसे बड़े कोविड अस्पताल की यह है खासियत, गलवान घाटी के शहीदों पर रखे गए वॉर्ड्स के नाम, जानें सबकुछ

दिल्‍ली में डॉक्‍टरों की कोरोना से मौतों के मामले
– दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में अब तक कई स्वास्थ्यकर्मी आ चुके हैं
– दक्षिण दिल्ली के ओखला में फोर्टिस एस्कॉर्ट हार्ट इंस्टीट्यूट के एक डॉक्‍टर की हाल में कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई थी.
– ओडिशा के रहने वाले 39 वर्षीय एक डॉक्‍टर की 20 जून को दिल्ली सरकार के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के आईसीयू में कोविड-19 से मौत हो गई थी.