आपातकालीन आपूर्ति के बावजूद शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी के कुछ अस्पताल चिकित्सीय ऑक्सीजन की गंभीर कमी से जूझ रहे हैं. मैक्स हॉस्पिटल-साकेत ने शुक्रवार सुबह आपात संदेश (एसओएस) भेजते हुए कहा कि उसके पास सिर्फ “एक घंटे की ऑक्सीजन आपूर्ति” बची है और 700 से ज्यादा मरीज भर्ती हैं.Also Read - भारत में Omicron के सब वेरिएंट BA.5 के एक और मरीज की पुष्टि, दक्षिण अफ्रीका से वडोदरा आया था शख्स

अस्पताल ने दो घंटे बाद एक ट्वीट में पुष्टि की कि उसे आपातकालीन आपूर्ति प्राप्त हुई है जो “दो और घंटों के लिये काफी होगी.” मैक्स अस्पताल ने सुबह सात बजकर 43 मिनट पर ट्वीट किया, “एसओएस- मैक्स स्मार्ट हॉस्पिटल और मैक्स हॉस्पिटल साकेत में एक घंटे से भी कम की ऑक्सीजन आपूर्ति बची है. देर रात एक बजे से आईनॉक्स द्वारा वादा की गई ताजा आपूर्ति का इंतजार है.” Also Read - सऊदी अरब में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, भारत समेत इन देशों में यात्रा करने पर लगा प्रतिबंध

अस्पताल ने ट्वीट में डॉ. हर्षवर्धन, मनीष सिसोदिया, पीएमओ इंडिया, अरविंद केजरीवाल, पीयूष गोयल, सत्येंद्र जैन को टैग करते हुए लिखा कि 700 से ज्यादा मरीज भर्ती हैं और तत्काल सहायता की जरूरत है. Also Read - महिला आशा स्वयंसवकों को WHO ने किया सम्मानित, पीएम नरेंद्र मोदी बोले- आपका समर्पण सराहनीय है

दक्षिण दिल्ली के डीसीपी के मुताबिक, ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर एक वाहन सुबह करीब नौ बजे मैक्स स्मार्ट पहुंच गया जबकि एक अन्य वाहन रास्ते में है.

पुलिस ने ट्विटर पर कहा, “ऑक्सीजन लेकर वाहन मैक्स स्मार्ट पहुंच चुका है. एक अन्य वाहन मैक्स ईस्ट वेस्ट के लिये रास्ते में है. वरिष्ठ अधिकारी स्थिति पर नजर रख रहे हैं.”

करीब साढ़े नौ बजे मैक्स हेल्थकेयर ने कहा कि उसे और आपूर्ति का इंतजार है. उसने कहा, “अपडेट: हमें मैक्स साकेत और मैक्स स्मार्ट में आपातकालीन आपूर्ति मिल गई है जो करीब दो और घंटे चलेगी. हमें अब भी और आपूर्ति का इंतजार है.”

वसंत कुंज स्थित इंडियन स्पाइनल इंजरीज सेंटर ने भी शाम चार बजकर 20 मिनट पर ट्वीट किया कि उसके पास सिर्फ एक और घंटे के लिए ऑक्सीजन बची है और यथाशीघ्र मदद का अनुरोध किया.

उसने ट्वीट किया, “इंडियन स्पाइनल इंजरीज सेंटर वसंत कुंज में कोविड-19 के 160 मरीज हैं और हमारे पास सिर्फ एक और घंटे के लिये ऑक्सीजन बची है. हम बीती रात से आपूर्ति का इंतजार कर रहे हैं लेकिन अब तक कामयाबी नहीं मिली है. कृपया यथाशीघ्र हमारी मदद करें.” ट्वीट में प्रधानमंत्री कार्यालय और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को टैग किया गया था.

बत्रा हॉस्पिटल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उनके यहां ऑक्सीजन की स्थिति बेहद खराब है. अधिकारी ने कहा, “हमें अपराह्न करीब एक बजे आपूर्ति मिली. उसके बाद दिल्ली सरकार की तरफ से भी कुछ मदद मिली जिससे हम स्थिति को खींच पा रहे हैं. हमारे पास 2.5 मीट्रिक टन के करीब ऑक्सीजन है जिससे हम रात साढ़े आठ बजे तक काम चला सकते हैं. हमारा प्राथमिक आपूर्तिकर्ता हमारे फोन का जवाब नहीं दे रहा. हमें उम्मीद है कि दिल्ली सरकार हमें इससे उबार पाएगी.”

अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन के भीषण संकट के बीच यहां सर गंगाराम हॉस्पीटल में बीते 24 घंटों में कोविड-19 से सबसे बुरी तरह बीमार 25 रोगियों की मौत हो गई.

सूत्रों ने कहा कि “ऑक्सीजन का कम दबाव” इन मौतों का संभावित कारण हो सकता है. केंद्र सरकार के एक सूत्र ने बताया कि सर गंगाराम अस्पताल (एसजीआरएच) में ‘‘ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडार है और एक ऑक्सीजन का एक टैंकर अस्पताल पहुंचा है जो भंडार क्षमता को पूरा करेगा.’’

सर गंगाराम अस्पताल (एसजीआरएच) के एक अधिकारी ने बताया कि टैंकर सुबह करीब नौ बजकर 20 मिनट पर पहुंचा. यह खेप करीब पांच घंटे और चलेगी जो ऑक्सीजन की खपत पर निर्भर करता है.

होली फैमिली अस्पताल के सूत्रों ने भी को बताया कि उन्हें दिल्ली सरकार से आपात ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई है लेकिन “इससे छह घंटों तक ही काम चल सकता है.” आप विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि 20 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर एक अतिरिक्त वाहन को होली फैमिली अस्पताल भेजा गया है.