चेन्नई: तमिलनाडु सरकार के मंत्री डी जयकुमार ने मंगलवार को एएमएमके नेता टीटीवी दिनाकरन के खेमे पर एक गर्भवती महिला को लेकर रिकार्ड की गई बातचीत में छेड़छाड़ कर बनाए गए ऑडियो क्लिप बांटने का आरोप लगाया और कहा कि इसमें उनकी आवाज नहीं है और वह किसी भी जांच के लिए तैयार हैं. जयकुमार ने दिनाकरन खेमे द्वारा उन्हें कैबिनेट से हटाने की मांग के बीच संवाददाताओं से कहा कि यह उन्हें बदनाम करने की साजिश है और वह इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे. अम्मा मक्कल मुन्नेत्र कझगम के नेता दिनाकरन के वफादार माने जाने वाले और अयोग्य करार दिये गये विधायकों पी वेत्रिवेल और टी तमिलसेल्वन ने मंगलवार को मांग की कि जयकुमार को उनके खिलाफ आरोपों के मद्देनजर इस्तीफा दे देना चाहिए.

बता दें कि सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुईं दो ऑडियो क्लिप में एक महिला और एक अज्ञात शख्स के बीच बातचीत है. वह शख्स कथित तौर पर उस महिला की बेटी के गर्भवती होने के लिए जिम्मेदार दिखता है और उससे गर्भपात कराने की गुहार लगा रहा है. गर्भवती महिला ने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया था. आरोपों में ऑडियो के तार जय कुमार से जोड़े जा रहे हैं. जिसके मद्देनजर उन्होंने सोमवार को इसे खारिज करते हुए कहा कि वह किसी भी जांच का सामना करने को तैयार हैं. जयकुमार ने कहा था कि चूंकि वह दिनाकरन और दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की जेल में बंद सहयोगी वी के शशिकला का खुलकर समर्थन कर रहे हैं इसलिए राजनीतिक प्रतिशोध वाले इस तरह के आरोप उभरे हैं. एक साल पहले जयकुमार की तस्वीरें छेड़छाड़ करके सोशल मीडिया पर डाली गई थीं और इस मामले में पुलिस शिकायत के बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया.

जयकुमार ने कहा कि ये कोशिशें नाकाम रहने के बाद अब इस तरह के प्रयास किये जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि ‘तकनीक बहुत विकसित हो गयी है. आवाज से छेड़छाड़ की गयी है और सोशल मीडिया पर इसे डाल दिया गया. यह अस्वीकार्य है.’ बच्चे के जन्म प्रमाणपत्र में पिता के नाम के आगे डी जयकुमार लिखा होने के संदर्भ में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि केवल वही डी जयकुमार नहीं हैं और उनके नाम वाले 1000 से ज्यादा लोग हैं। उन्होंने कहा कि मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं. वेत्रिवेल ने मंगलवार को डीएनए जांच कराने की मांग की थी ताकि बच्चे के पिता का पता चल सके. उन्होंने मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी से जयकुमार को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की.