वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेट पार्टी की उम्मीदवार एलिजाबेथ वारेन ने शनिवार को कश्मीर में पाबंदियों एवं संचार प्रतिबंधों को लेकर चिंता प्रकट की और भारत से कश्मीर के लोगों के मानवाधिकारों का सम्मान करने की अपील की. भारत सरकार द्वारा पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा के बाद कश्मीर में पाबंदियां लगा दी गयी थीं. अनुच्छेद 370 के तहत राज्य को विशेष राज्य का दर्जा प्राप्त था.

वारेन (70) ने ट्वीट किया, ‘‘ अमेरिका-भारत साझेदारी की जड़ें सदैव हमारे साझे लोकतांत्रिक मूल्यों में समाहित रही हैं. मैं कश्मीर में निरंतर संचार पाबंदियों और अन्य पाबंदियों समेत हाल के घटनाक्रम को लेकर चिंतित हूं. लोगों के अधिकारों का सम्मान किया जाना चाहिए.’’


मैसाचुसेट्स की सीनेटर कश्मीर पर चिंता प्रकट करने वाली दूसरी प्रभावशाली अमेरिकी नेता हैं. इससे एक महीने पहले डेमोक्रेट बर्नी सैंडर्स ने ऐसी ही चिंता व्यक्त की थी.