नोट बंदी के बाद से ही बड़ी संख्या में लोग बैंक के बाहर कतार में लग जा रहे हैं। सुबह की शुरुवात लाइन से करने वाले लोग चाहतें हैं की उनकी मेहनत की कमाई सही समय पर बैंक में जमा हो जाए। शायद यही कारण है की लोग 4 से 6 घंटे तक लाइन में खड़े होकर पैसे जमा करवा रहे हैं। अब आपको जानकर हैरानी होगी कि देश 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों पर बैन लगाने के बाद देश के सभी बैंको में नकदी की ‘बरसात’ हो गई है। इतने ज्यादा पैसा जमा होने का फायदा अब जल्‍द ही आम लोगों को भी मिल सकता है।Also Read - Drugs Case: फडणवीस पर नवाब मलिक ने फोड़ा हाइड्रोजन बम-जाली नोटों का धंधा, अंडरवर्ल्ड कनेक्शन, जानिए...

Also Read - Highest S/A Interest Rates: ये 5 प्राइवेट बैंक दे रहे हैं बचत खाते पर सबसे ज्यादा ब्याज, यहां जानिए पूरा विवरण

जिस तरह से बैंक में लगातार पैसा जमा किया जा रहा है उसके कारण लोन सस्ता हो सकता है। बता दें की एक अनुमान के मुताबिक, देशभर में अभी तक बैंकों के पास चार लाख करोड़ रुपये जमा हो गए हैं। जिसके कारण बैंको ने डिपाजिट रेट में कटौती शुरू कर दी है। इसका परिणाम यह होगा की लोन कम हो सकता है और कस्टमर को इसका फायदा मिल सकता है। गौरतलब हो की इससे पहले RBI ने लोगो को राहत दिया था। अब 500 और 1000 के नोट बदलवाने के समय अब आपको अपने आईडी की फोट कॉपी नही देनी होगी। पैसे जमा करवाने बैंक में जाए उस वक्त अपना ऑरिजनल पहचान पत्र अपने पास रखें। इस मसले पर आरबीआई ने कहा है कि लोगों को बैंक में सिर्फ अपनी ऑरिजिनल आईडी दिखानी होगी। यह भी पढ़ें: RBI का बड़ा फैसला, बैंक में 1000 और 500 के पुराने नोट बदलवाने के लिए नहीं लगेगी ID Also Read - RBI Credit Policy: विकास के लिए हर तरफ से लगातार नीतिगत समर्थन जरूरी : आरबीआई गवर्नर

नोट बंदी के बाद कई लोगो की हुई मौत 

बता दें नोटबंदी की वजह से बीते कुछ दिनों में 40 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। इनमें आत्महत्याएं, बैंकों-एटीएम पर लगी कतारों में दिल का दौरा पड़ने से होने वाली मौतें, अस्पतालों में हुई मौतें और गुस्से में हुई हत्या शामिल हैं। देश में आम लोगों के जीवन में उथलपुथल मचा देने वाली नोटबंदी उत्तर प्रदेश में 11 लोगों की जान ले चुकी है। इनमें से अधिकांश मौतें दिल का दौरा पड़ने से हुई हैं। दो लोगों ने आत्महत्या की है। वहीं असम, मध्य प्रदेश, झारखंड और गुजरात में नोटबंदी के असर की वजह से तीन-तीन लोगों की मौत हुई है जबकि तेलंगाना, बिहार, मुंबई, केरल और कर्नाटक में दो-दो लोगों की जान गई है।