नोटबंदी के फैसले के बाद डेढ़ महीने से भी ज्यादा का वक्त गुज़र चुका है लेकिन हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे। इससे मोदी सरकार की सहयोगी पार्टियां भी बिफर रही हैं। अभी तक नोटबंदी के फैसले का स्वागत करने वाले आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने अब इस फैसले की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि रोज दो घंटे सिर खपाता हूँ लेकिन इस फैसले के पैदा हुई परेशानी कम करने का कोई हल नहीं मिलता। चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि मोदी सरकार का नोटबंदी का फैसला उनकी कसौटी पर खरा नहीं उतरा है। यह भी पढ़ेंः स्विस बैंक के 648 खाताधारकों को जेल भिजवाएं मोदी : केजरीवाल Also Read - तिरूपति: चुनाव प्रचार के लिए जा रहे पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू हिरासत में, एयरपोर्ट पर हंगामा

Also Read - आंध्र प्रदेशः CM जगन मोहन रेड्डी ने CJI को लिखा 8 पन्नों का पत्र, सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जज पर लगाए गंभीर आरोप

नोटबंदी के फैसले का स्वागत करने वाले चंद्रबाबू नायडू ने अपनी राय बदलते हुए कहा कि इतने दिन बाद भी समस्या बरकरार है। समस्या सुलझने के काबिल नहीं है और फिलहाल इसका कोई हल नहीं दिख रहा है। गौरतलब है कि चंद्रबाबू नायडू को  उस 13 सदस्यों की कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है जिसे नोटबंदी के फैसले के बाद पैदा हुई समस्याओं को देखने की जिम्मेदारी दी गई है। यह भी पढ़ेंः नोटबंदी के 50 दिन बाद 2 जनवरी को लखनऊ में PM मोदी की महापरिवर्तन रैली, 10 लाख लोगों के जुटने का अनुमान Also Read - आंध्र प्रदेश : सड़क दुर्घटना में पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू बाल-बाल बचे

चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि मुझे जैसी खुशफहमी थी, नोटबंदी वैसा निर्णय नहीं है। नोटबंदी के बाद 40 से भी ज्यादा दिन बीत चुके हैं लेकिन लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। फिलहाल इसका कोई हल भी नहीं दिखाई दे रहा। वो हर रोज सोचते हैं कि कैसे इस समस्या से समाधान मिल सकता है लेकिन कोई हल नहीं मिल रहा। ये बातें नायडू ने टीडीपी के सांसदों और विधायकों के वर्कशॉप के दौरान कही।