देश में पीएम मोदी ने 8 नवंबर की नोटबंदी फैसला लिया और उसके बाद 500 और 1000 के पुराने नोट बंद हो गए। लेकिन इस फैसले के बाद देश की जनता परेशान हो गई और उसका परिणाम यह हुआ की बैंक और एटीएम के बाहर बड़ी संख्या में लोग कतार में लगने लगे। नोटबंदी के बाद पैसो की कमी की समस्या न हो इसके लिए सरकार ने पेट्रोल पंपों, अस्‍पतालों, मेडिकल स्‍टोर्स, रेलवे स्टेशन पर नोट देने की अनुमति 24 नवंबर तक कर दी थी। जिसका आज आखिरी दिन तारीख है। लेकिन अभी लोग पैसो को लेकर काफी परेशान है और उसे देखते हुए सरकार अपने फैसले की तारीख को आगे बढ़ा सकती है।Also Read - NEET काउंसिलिंग चार हफ्तों के लिए स्थगित, सरकार ने कहा- नीट में EWS श्रेणी के लिए 8 लाख सालाना आय की सीमा पर फिर से गौर करेंगे

Also Read - छत्तीसगढ़: कट्टर नक्सली इलाकों में रणनीतिक पुलों और राजमार्गो का निर्माण करेगी सरकार, केंद्रीय बल देंगे सुरक्षा

सूत्रों की माने तो सरकार पुराने नोटों के चलन की तारीख बढ़ा सकती है। 24 नवंबर से आगे बढ़ाते हुए सरकार नया ऐलान करते हुए पुराने नोटों के चलन की तारीख 30 नवंबर कर सकती है। फिलहाल इसे लेकर अब तक कोई अधिकारिक ऐलान नही हुआ लेकिन सूत्रों की माने तो शाम तक ऐलान संभव है। अगर सरकार इस तरह का फैसला लेती है तो जनता को थोड़ी राहत जरुर मिलेगी। यह भी पढ़ें: आज रात 12 बजे के बाद से कहीं भी नहीं चलेंगे पुराने नोट Also Read - रेड पड़ी तो अफसर ने नोटों से भरा बैग दूसरे की बिल्डिंग में फेंका, 38.12 लाख कैश मिला, 25 संपत्तियां जब्‍त

देश के अंदर नोटबंदी का आज 16वां दिन है और अब भी लोगों की मुसीबतें कम नहीं हुई है। एक तरफ बैंक और एटीएम के बाहर लोग अपने पैसे को लेकर परेशान है तो वहीं केंद्र सरकार हर संभव सहूलियत देने की कोशिश कर रही है। लेकिन नोटबंदी के फैसले के बाद से केंद्र सरकार पर कांग्रेस समेत सभी विपक्षी नेता मिलकर हमला कर रहें हैं।

फिलहाल अगर गुरुवार रात 12 बजे से पुराने नोट पूरी तरह से बंद हो जाते हैं तो बैंक एक मात्र विकल्प होगा जहां पर यह पुराने नोट 31 दिसंबर तक बैकों में जमा किए जा सकेंगे साथ ही बैंकों में इन्हें 31 दिसंबर तक बदलवाया जा सकता है। लेकिन देश में अधिकांश लोग ऐसे है जो आज ही अपने पैसे को चेंज करने में लगे हुए है।