नई दिल्ली: दिल्ली सरकार द्वारा उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा के पीड़ितों की मदद करने और क्षेत्र में सामान्य स्थिति बहाल करने की मांगों के लेकर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) और जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) के छात्रों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन किया. छात्रों ने पूर्वोत्तर दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ दिल्ली पुलिस से कार्रवाई करने और शांति व्यवस्था बहाल करने की मांग की. Also Read - जामिया विश्वविद्यालय के प्रदर्शन स्थल पर अज्ञात व्‍यक्‍ति ने गोली चलाई और पेट्रोल बम फेंका


प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल से हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सीधा हस्तक्षेप करने और उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फैले तनाव को कम करने के लिए क्षेत्रीय विधायक के साथ शांति मार्च आयोजन करने की मांग की. छात्रों ने दिल्ली सरकार की सभी सेवाओं और बुनियादी सुविधाओं को बचाने, चिकित्सा सुविधाओं को मुहैया कराने और नागरिकों को आश्रय प्रदान करने की मांग की. JNUSU के उपाध्यक्ष साकेत मून के नेतृत्व वाले छात्रों ने भी सांप्रदायिक हिंसा में शामिल दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की.

छात्रों ने कहा कि पुलिस अधिकारियों सहित इस सांप्रदायिक हिंसा में शामिल दोषियों की पहचान करें और उनके खिलाफ कार्रवाई करें. बता दें कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के पक्ष में प्रदर्शनकारियों और इसका विरोध करने वालों के बीच उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में सोमवार को हुई हिंसा में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई. अब तक की हिंसा में लगभग 190 लोग घायल हुए हैं.