नई दिल्ली: अगर आप विदेश यात्रा के लिए एयर जर्नी का प्‍लान बना रहे हैं, तो अभी आपको इंतजार कनरना होगा. दरअसल, नागर विमानन महानिदेशालय आज बुधवार को अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाओं के परिचालन पर रोक को 30 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है. बता दें कि कोरोना वायरस महमारी के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. देश में घरेलू उड़ान सेवा करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से दोबारा शुरू की गई थी. Also Read - PM Modi Visit: कोरोना वैक्सीन की समीक्षा करने अहमदाबाद के Zydus Biotech Park पहुंचे पीएम मोदी

नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस महमारी के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाओं के परिचालन पर रोक को 30 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है. Also Read - India Corona Update: 24 घंटे में कोरोना के 41 हजार से ज्यादा मामले, 485 लोगों की मौत, अब साढ़े चार लाख से ज्यादा एक्टिव मामले

भारतीय विमानन नियामक ने एक परिपत्र में कहा, ” हालांकि, ‘मामला-दर-मामला’ के आधार पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा चुनिंदा मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय निर्धारित उड़ानों के परिचालन की अनुमति दी जा सकती है.” Also Read - WHO का बड़ा बयान- चीन का वुहान शहर नहीं है Coronavirus का स्त्रोत

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत में 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान सेवाएं निलंबित हैं. हालांकि, मई से ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत और जुलाई से द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत कुछ देशों के लिए विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवाओं का परिचालन हो रहा है.

दो देशों के बीच ‘एयर बबल समझौता’ के तहत, विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का उनके क्षेत्र के बीच उन देशों की विमानन कंपनियों द्वारा परिचालन किया जा सकता है. भारत ने करीब 18 देशों के साथ ‘एयर बबल’ समझौता किया है. देश में घरेलू उड़ान सेवा करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से दोबारा शुरू की गई थी.