नई दिल्ली. इथोपिया विमान हादसे के बाद विश्व के कई देशों द्वारा बोइंग कंपनी के विमान Boeing 737 Max पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद भारत में भी इस तरह के विमानों के उड़ान पर बैन लगने की बातें उठने लगी हैं. इसके मद्देनजर मंगलवार की रात नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने संकेत दिए हैं कि भारत में कार्यरत इस कंपनी के Boeing 737 Max-8 विमानों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है. भारत में कई एयरलाइन कंपनियों द्वारा बोइंग 737 मैक्स-8 विमान का इस्तेमाल किया जाता है. DGCA की मानें तो इन विमानों पर प्रतिबंध लगने की संभावना है. इस बारे में बुधवार को फैसला किया जा सकता है.

डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. इथोपियन एयरलाइन का बोइंग 737 मैक्स-8 विमान रविवार को इथोपिया के अदीस अबाबा के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें चार भारतीय समेत सभी 157 लोगों की मौत हो गई थी. बीते करीब पांच महीने में बोइंग 737 मैक्स-8 विमान दूसरी बार हादसे का शिकार हुआ है. पिछले साल अक्टूबर में लायन एयरलाइन का एक विमान इंडोनेशिया में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें 180 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अधिकारी ने बताया कि हम भारतीय एयरलाइन कंपनियों द्वारा 737 मैक्स-8 के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा सकते हैं. अंतिम निर्णय बुधवार को लिया जाना है. इस पर चर्चा चल रही है. बता दें कि निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी स्पाइस जेट के पास करीब 12 ऐसे विमान हैं, जबकि जेट एयरवेज के पास ऐसे पांच विमान हैं. इससे पहले दुनिया के कई देशों ने इथोपिया विमान हादसे के बाद बोइंग 737 मैक्स विमानों के अपने देश में उड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

‘बोइंग 737 मैक्स’ का खौफ, इथोपिया विमान हादसे के बाद ब्रिटेन-फ्रांस समेत कई देशों ने लगाया बैन

ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी समेत कई देशों ने अपने वायुक्षेत्र में ‘बोइंग 737 मैक्स’ विमानों पर रोक लगा दी. हालांकि अमेरिकी नियामकों ने बोइंग को मॉडल में तत्काल सुधार करने का आदेश दिया है. लेकिन इस बीच कई देशों ने इन विमानों में खराबी की आशंका जताते हुए कार्रवाई की है. फ्रांस, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, जर्मनी, सिंगापुर, आयरलैंड, ओमान और आइसलैंड जैसे देशों ने अपने-अपने वायुक्षेत्र में सभी 737 मैक्स विमानों के परिचालन पर अस्थाई रूप से रोक लगाने का आदेश दिया है. उधर, दक्षिण कोरिया ने भारत की ही तरह बोइंग 737 मैक्स-8 विमान के उड़ान पर प्रतिबंध लगाया है.

157 लोगों को ले जा रहा इथियोपिया का विमान केन्या में क्रैश, किसी के बचने की संभावना नहीं

विभिन्न देशों द्वारा बोइंग कंपनी के इस विमान पर प्रतिबंध लगाने की खबरों के बीच भारत की निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी स्पाइसजेट ने ‘मैक्स-8’ विमानों के पक्ष में दलील दी है. स्पाइसजेट कंपनी के पास मैक्स-8 मॉडल के 13 विमान हैं. कंपनी ने मंगलवार को कहा कि बोइंग 737 मैक्स एक अत्याधुनिक विमान है. विश्व की बड़ी एयरलाइंस कंपनियां इस विमान का परिचालन कर रही हैं. इस विमान ने वैश्विक रूप से हजारों घंटे की उड़ान भरी है. उधर, अमेरिका ने इथोपिया हादसे के बाद विभिन्न देशों द्वारा विमान पर प्रतिबंध लगाए जाने के बीच कहा है कि वह इन विमानों के संबंध में कुछ और सबूत आने के बाद कोई फैसला लेगा.

(इनपुट – एजेंसी)