Zydus Cadila’s Pegylated Interferon alpha-2b, ‘Virafin’ ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने वयस्कों में मध्यम COVID19 संक्रमण के इलाज के लिए Zydus Cadila के Pegylated Interferon alpha-2b, ‘Virafin’ के लिए आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दे दी है. जाइडस की इस दवा को PegiHep के नाम से भी जाना जाता है.Also Read - युवा शिविर में बोले पीएम मोदी, भारत आज दुनिया की नई उम्मीद बनकर उभरा है

दरअसल इससे पहले जाइडस कैडिला ने कोविड-19 के इलाज में PegiHep दवा की ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से मंजूरी मांगी थी. कंपनी ने कहा था कि Pegylated Interferon Alpha 2b या PegiHep दवा 91.15 फीसद असरदार साबित हुई है. इसके शुरुआती तीसरे चरण के मानव परीक्षण में दवा से आशाजनक नतीजे मिले थे. जिसके बाद शुक्रवार को DGCI ने इसके इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. Also Read - बैंक अकाउंट में आ गया पूरे शहर का Covid फंड, करोड़ों रुपये पाकर मालामाल हुआ शख्स घर से गायब

बता दें कि पिछले हफ्ते कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि बीमारी के शुरू में ही इस्तेमाल करने पर यह दवा मरीजों को तेजी से रिकवर होने में मदद कर सकती है. इसके अलावा इस दवा के इस्तेमाल से बीमारी के एडवांस स्टेज में होने वाली जटिलताओं से बचा जा सकता है. बीमारी में Pegylated Interferon Alpha-2b का सिंगल डोज दिए जाने से यह मरीजों के लिए सस्ती भी साबित होगी. Also Read - राजस्थान में बढ़ रहे Corona के मामले, एक्सपर्ट बोले - तीसरी से ज्यादा घातक होगी चौथी लहर