जालंधर: कश्मीरी छात्रों को पंजाब पुलिस द्वारा प्रताड़ित किए जाने की आशंका में कश्मीरी छात्रों के पलायन की खबरों का खंडन करते हुए पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने कहा कि राज्य की पुलिस कभी किसी छात्र की निष्ठा पर सवाल नहीं उठाती है, खास तौर से कश्मीरी छात्रों की. साथ ही उन्होंने यह भी कहा, लेकिन यदि कोई नागरिक कानून का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अवश्य की जाएगी. Also Read - Punjab: पंजाब के फरीदकोट में युवा कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या

Also Read - Maharashtra Police में 20,000 वैकेंसी, जल्‍द शुरू होगी भर्ती प्रक्र‍िया

मुंबई: कार्यकर्ता ने FB पर लिखा- कांग्रेस 2019 में सरकार बनाएगी तो नाराज लोगों ने चाकू से वार कर मार डाला Also Read - Tractor Rally: पेट्रोल पंप बंद करने की झूठी खबर फैलाने वालों पर कार्रवाई करेगी पंजाब पुलिस

छात्रों को मदद का आश्वासन दें

रविवार को डीजीपी की यह टिप्पणी आने से पहले मीडिया में आई खबरों में दावा किया गया था कि घाटी के तीन छात्रों को कथित रूप से एके-47 और अन्य हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद पंजाब के कई कॉलेजों के कश्मीरी छात्र प्रताड़ित किए जाने के डर से अपने घर लौटने लगे हैं. सुरेश अरोड़ा ने कहा कि रिक्त पुलिस महानिदेशक (सामुदायिक पुलिसिंग) ईश्वर सिंह और पुलिस महानिरीक्षक वी. नीरजा को छात्रों की शिकायतें दूर करने के लिए निर्देशित किया गया है.

उद्धव ठाकरे का भाजपा पर हमला, कहा – मोदी सरकार को दोस्तों की जरूरत नहीं

पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेशअरोड़ा ने कहा, ‘यह सुनिश्चित करना हमारा नैतिक कर्तव्य है कि देश के सभी हिस्सों से आने वाले छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले.’ उन्होंने कहा, लेकिन यदि कोई नागरिक कानून का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. डीजीपी ने कहा कि उन्होंने जिला पुलिस प्रमुखों को पहले ही निर्देश दे दिए हैं कि वे छात्रों के साथ बैठकें करें और मुश्किल हालात में मदद का आश्वासन दें. उन्होंने कहा कि अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सामुदायिक पुलिसिंग) ईश्वर सिंह और पुलिस महानिरीक्षक वी. नीरजा को छात्रों की शिकायतें दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. (इनपुट एजेंसी)

ये क्‍या, मारे गए आतंकी वानी को कश्‍मीर की ‘हिंसा का पीडि़त’ बता गईं पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती?